कोरोना से बचाव के लिए घर को करें सेनेटाइज, यह रहा आसान तरीका

स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के सहारे की जरूरत नहीं
स्पे्र के साथ-साथ पोछा लगाकर भी खत्म होगा वायरस

कानपुर। कोरोना के वायरस से बचने के लिए सेनेटाइजर भी बेहतर तरीका है। कोरोना का अब तक कोई सटीक इलाज न मिल पाने के कारण इससे बचाव ही इसका इलाज है। इसलिए घर से बाहर लोग सेनेटाइजर का इस्तेमाल करते हैं और घर पर हाथों को धोते रहते हैं, लेकिन अपने घर को भी वायरस से बचाने के लिए सेनेटाइज करना जरूरी है। मगर ज्यादातर लोग घर को सेनेटाइज करने के लिए स्वास्थ्य विभाग या नगर निगम का सहारा लेते हैं, जबकि इसकी जरूरत नहीं है। आप खुद भी घर को सेनेटाइज कर कोरोना को फैलने से रोक सकते हैं।

दो तरीके से घर को करें सेनेटाइज
घर को सेनेटाइज करने के लिए नगर निगम या स्वास्थ्य विभाग की टीम के बिना भी पूरा कर सकते हैं। इसके लिए दो तरीके इस्तेमाल किए जाते हैं। पहला है स्प्रे करना और दूसरा पोछा लगाना। दोनों ही तरीके वायरस से बचाव में कारगर हैं, पर इसमें भी आपको सावधानी बरतने की जरूरत है। लापरवाही से घर को सेनेटाइज करने में आपको नुकसान भी हो सकता है। इसलिए जरूरी निर्देशों का पालन करें।

सेनेटाइज करने के लिए चाहिए यह सब
नगर निगम के नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अजय शंखवार के मुताबिक घर को सेनेटाइज करने के लिए सोडियम हाईप्रो क्लोराइड की जरूरत होगी जो मेडिकल की दुकानों पर मिल जाएगी। वहां से दो या तीन बोतल लेकर रख लें। यह बोतलें दो लीटर की भी आती हैं। चाहें तो एक बोतल भी ले सकते हैं। हालांकि इसे सुरक्षित स्थान पर ही रखें ताकि किसी के ऊपर न गिरे। इसके साथ ही सर्जरी वाले यूज एंड थ्रो ग्लव्स खरीद लें तो 10 रुपए तक आसानी से मिलते हैं। छिडक़ाव को पचकारी भी विकल्प है।

छिडक़ाव करने का तरीका
घर पर छिडक़ाव करने के लिए इस्तेमाल की हुई पिचकारी घर से निकाल लें, या खरीद लें। फिर बाल्टी में 10 ली. पानी डालें फिर 350 से 450 ग्राम हाईप्रोक्लोराइड मिलाएं और पिचकारी बाल्टी में डुबोकर और खींचकर उससे कमरों से बाहर तक छिडक़ाव करें। टैंक वाली पिचकारी हो तो बाल्टी से मिश्रण डालकर स्प्रे करें।

पोछा लगाने का तरीका
पोछा लगाने के लिए अपने घर में पहले दस-बारह लीटर वाली बाल्टी में पानी भर लें। फिर दस लीटर पानी में 350 से 450 ग्राम हाईप्रो क्लोराइड डाल लें। इसके बाद हाथों में यूज एंड थ्रो वाले ग्लव्स पहन लें फिर कपड़े से पोछा लगाएं। ध्यान रखें कि हाथों में ग्लव्स जरूर पहनें वरना स्किन को नुकसान हो सकता है।

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned