बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा अब स्कूली बच्चों को मिलेगी बेहतर ड्रेस, सरकार की योजना से दोहरा लाभ

अब तक ये ड्रेस कानपुर, लखनऊ और दिल्ली के बड़े बड़े सप्लायर्स से लिये जाते थे।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 14 Sep 2020, 07:52 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-प्रधानमंत्री का आत्मनिर्भर और लोकल का नारा कारगर साबित हो रहा है। जनपद ने जो कदम उठाया है वह इस दिशा में बेहतर शुरुआत कही जा सकती है। जिले के बेसिक शिक्षा विभाग ने महिलाओं को लाखों बच्चों के लिये स्कूल ड्रेस तैयार करने को कहा है। ज़िले में करीब 2268 प्राइमरी स्कूल हैं, जिनमें लाखों बच्चे पढ़ते हैं। ग्रामीण इलाकों में सरकार की ओर से चलाए जा रहे राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत महिलाओ को रोज़गार देकर आत्मनिर्भर बनाने का काम शुरू हुआ है। अब तक ये ड्रेस कानपुर, लखनऊ और दिल्ली के बड़े बड़े सप्लायर्स से लिये जाते थे। लेकिन इस महामारी के दौर में बढ़ी बेरोज़गारी के संकट को देखते हुए अब स्थानीय स्तर पर ही इसकी उपलब्‍धता सुनिश्चित करायी जा रही है।

महिलाओं ने बताया कि हर रोज 400 से 500 सौ रूपये कमा रही हैं। सिलाई के साथ-साथ उनसे जुड़े समूहों की महिलाएं व बेटियां अगर सिलाई सीखना चाहती हैं तो उनको हम लोग सिलाई की ट्रेनिंग भी दे रहे हैं। बड़े पैमाने पर महिलाओं को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। हमलोग बहुत खुश हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned