संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद सेंट्रल स्टेशन पर अचूक ‘सुरक्षा चक्र’

Vinod Nigam | Updated: 06 Oct 2019, 09:01:01 AM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India


आतंकी इनपुट के बाइ आरपीएफ के साथ जीआरपी सतर्क, हर गतिविधि पर नजर, दिन में कईबार चलाया जाता है तलाशी अभियान।

कानपुर। दिल्ली व झारखंड से आई पुलिस ने कल्याणपुर थानाक्षेत्र से तीन संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार कर लेगी। जिसकी जानकारी स्थानीय पुलिस व रेलवे को हुई तो शहर के साथ सेंट्रल स्टेशन की सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई। कर दी गई। आरपीएफ व जीआरपी ने स्टेशन परिसर की चप्पे-चप्पे की तलाशी ली और सभी प्लेटफार्म के साथ ही बाहर आधुनिक हथियार से लैस जवान तैनात कर दिए गए।

परिंदा भी नहीं मार सकता पर
दिल्ली में आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के साथ ही कल्याणपुर से तीन संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद कानपुर पुलिस हाई अलर्ट पर है। शहर में पुलिस, एलआयू और खुफिया एजेंसियां नजर रखे हुए हैं तो वहीं कानपुर सेन्ट्रल स्टेशन पर यात्रियों के सुरक्षा की जिम्मेदारी आरपीएफ व जीआरपी के हवाले है। आरपीएफ लगातार स्टेशन पर चेकिंग अभियान चलाने के साथ ही हथियारों से लैस जवानों को तैनात कर दिया है, जो किसी भी हमले का नाकाम बना देंगे।

कैमरे से निगरानी

आरपीएफ इन्स्पेक्टर प्रद्युमन ओझा ने बताया कि कानपुर सेन्ट्रल सुरक्षा की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। आरपीएफ अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह से निभा रही है। रोजाना स्टेशन पर चेकिंग की जा रही है। यात्रियों से भी अनुरोध किया जा रहा है कि अगर आपके आसपास कोई लावारिस वस्तु दिखाई पड़े तो तुरंत सूचित करें। इसके अलावा जीआरपी आपपास की बस्तियों में भी तलाशी अभियान चलाया हुआ है। स्टेशन परिसर पर लगे 60 आधुनिक कैमरों के जरिए भी हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। जो भी व्यक्ति संदिग्ध पाया जाता है तो उसके साथ पूछताछ की जा रही है। इंस्प्ेक्टर के मुताबिक स्टेशन की सुरक्षा अचूक है।

किराए पर रहते थे युवक
कल्याणपुर कला निवासी बउआ बाजपेई के घर पर आठ दस लोग आए। पुलिसकर्मी आते ही इनके कमरे का ताला तोडने लगे। कुछ पुलिसकर्मियों ने छत पर जाकर टिंकू व दोनों नाबालिगों को दबोच लिया। वहीं सियाराम अपने तीन अन्य साथियों के साथ मकान के छज्जे से सड़क पर कूदकर भाग निकला। पुलिस ने संदिग्धों के कमरे से कई मोबाइल समेत अन्य संदिग्ध वस्तुओं को बरामद किया है। पूछने पर पुलिसकर्मियों ने बताया कि युवक आतंकी हैं। उसके बाद तीनों को लेकर चले गए।

15 दिन पहले लिया था कमरा
बउआ बाजपेई कीपत्नी रंजना बाजपेई ने बताया कि करीब 15 दिन पहले सियाराम व टिंकू नाम के दो युवकों ने उनके यहां किराये पर कमरा लिया था। सात दिन पहले उनके परिचित दो नाबालिग लड़के (उम्र 10-12 वर्ष) भी आकर रहने लगे। युवकों ने उन्हें बताया था कि वह कोलकाता से रेडीमेड कपड़े लाकर कानपुर के घंटाघर में बेचते हैं। लड़के सुबह कमरे से निकल जाते और रात को वापस आते थे। मामले पर इंस्पेक्टर अश्विनी कुमार पांडे ने बताया कि सभी युवक मोबाइल चोर हैं। जो ठिकाने बदल-बदल कर लूट व चोरी की घटनाओं को अंजाम देते हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned