कानपुर अपडेट - गोलियों की आवाज से सनसनी, दो की मौत से क्षेत्र में दहशत

- घटनास्थल पर पहुंचे डीआईजी सहित अन्य आला अधिकारी

- हत्यारों को पकड़ने के लिए टीमों का गठन

 

By: Narendra Awasthi

Updated: 20 Feb 2021, 01:42 PM IST

कानपुर. गोलियों की तरह से अचानक नवाबगंज थाना क्षेत्र का उजियारी मोहल्ला गूंजने लगा। जब तक लोगों की कुछ समझ पाते हमलावर डबल मर्डर करके नौ दो ग्यारह हो चुके थे। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर डीआईजी, एसपी व थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। मृतक भाई ने कहा कि पुलिस को उन्होंने पहले ही एप्लीकेशन दिया था। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उल्टे उन्हें ही थाने में बैठा लिया गया। एसपी पश्चिम ने कहा कि दोनों पक्ष एक ही मोहल्ले के रहने वाले हैं। जल्द ही हत्यारों की गिरफ्तारी की जाएगी।

नवाबगंज थाना क्षेत्र की घटना

नवाबगंज थाना क्षेत्र उजियारी पुरवा निवासी पुताई ठेकेदार राजकुमार और उसके दोस्त रवि कि उस समय हत्या कर दी गई। जब वह मोहल्ले में बैठे थे। पुरानी रंजिश के कारण हमलावर ने धार दार हथियारों से हमला बोल दिया और कब तक वार करते रहे जब तक कि उनकी मौत नहीं हो गई। हत्या के बाद सभी हमलावर मौके से भाग निकले। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे डीआईजी प्रीतिंदर सिंह, पुलिस अधीक्षक सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

मृतक भाई राजकुमार ने बताया

बातचीत के दौरान मृतक राजकुमार के भाई शिवकुमार ने बताया कि उन्होंने घटना की आशंका को देखते हुए थाने में शिकायत पत्र दिया था। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उल्टे उन्हें ही थाने में बैठा लिया गया। उन्होंने बताया कि घटना में आकाश, विकास, विशाल सहित अन्य लोग शामिल है। जो दीपू सागर के लोग है जो पूर्व बसपा प्रत्यासी है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार अधिकारी

पुलिस अधीक्षक पश्चिम डॉक्टर अनिल कुमार ने बताया कि दोनों बच्चे की गांव मोहल्ले के रहने वाले हैं। पुरानी रंजिश थी। जिसके कारण घटना को अंजाम दिया गया है। हजारों की गिरफ्तारी की यह टीम का गठन किया गया है शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल है। बड़ी संख्या में पुलिस वालों को लगाया गया है। पुलिस द्वारा कई हत्या अधिकतम को गिरफ्तारी की चर्चा है।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned