शिवपाल सिंह बोले प्रसपा का किसी दल में नहीं होगा विलय, सपा से इसी शर्त पर होगा गठबंधन

उन्होंने कहा प्रदेश के सभी जिले में प्रसपा का संगठन तैयार हो गया है।

By: Arvind Kumar Verma

Updated: 20 Nov 2020, 09:02 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कानपुर-दिवाली के समय सैफई में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए बयान पर प्रसपा पार्टी संरक्षक शिवपाल सिंह ने पार्टी विलय को खारिज किया है। कानपुर में एक कार्यकर्ता के आवास पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के संरक्षक एवं पूर्व मंत्री शिवपाल यादव ने प्रेस वार्ता की। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी का समाजवादी पार्टी या किसी दल में विलय नहीं होगा। हमारी पार्टी छोटे दलों के साथ गठबंधन करके चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर समाजवादी पार्टी सम्मानजनक सीटें देंगी, तभी गठबंधन संभव होगा।

उन्होंने कहा प्रदेश के सभी जिले में प्रसपा का संगठन तैयार हो गया है। बूथ स्तर पर कमेटियों का गठन किया का रहा है। कार्यकर्ता पार्टी के लिए निष्ठा से काम कर रहे हैं। और संगठन आगामी 2022 विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट गया है। इस बीच उन्होंने सत्तासीन बीजेपी सरकार पर तीखे वार करते हुए कहा कि भाजपा की सरकार में किसान, मजदूर, बेरोजगार, नौजवान प्रत्येक वर्ग परेशान हैं। आज भी लोग नोटबंदी का दंश झेल रहे हैं।

भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है। लोगों के काम सरकारी कार्यालयों में नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार द्वारा गड्ढा मुक्त सड़कें करने का दावा भी किया गया था, जबकि सड़कें गड्ढायुक्त दिख रही हैं। प्रदेश में विकास के नाम पर सिर्फ दावे है। बोले प्रदेश में रोजाना हत्या, बलात्कार, लूट जैसे अपराध हो रहे हैं। प्रदेश की जनता त्रस्त है। प्रदेश सरकार का अपराधियों पर नियंत्रण नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रसपा का संगठन बहुत ही मजबूत है। समाजवादी पार्टी में प्रसपा के विलय की अफवाह फैलाई जाती हैं।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned