शिया समुदाय ने ईरान-इराक के आगे उठाई वसीम रिज़वी के खिलाफ़ फ़तवे की मांग

शिया समुदाय ने यूपी शिया सेंट्रल वक्‍फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी के खिलाफ़ ईरान और इराक के शीर्ष उलमा से फ़तवा मांगा है.

By: आलोक पाण्डेय

Published: 24 Jul 2018, 03:40 PM IST

कानपुर। शिया समुदाय ने यूपी शिया सेंट्रल वक्‍फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी के खिलाफ़ ईरान और इराक के शीर्ष उलमा से फ़तवा मांगा है. यह फतवा इराक के नजफ में शिया समुदाय के मरजा मौलाना आगा सीस्‍तानी और ईरान में मौलाना अयातुल्‍लाह खामनई से मांगा गया है. यहां आरोप लगाया गया है कि रिजवी अपने विवादित बयानों से न सिर्फ शिया-सुन्‍नी के बीच टकराव की स्‍थिति को पैदा कर रहे हैं, बल्‍कि लोगों में झगड़े को लेकर डर भी बढ़ा रहे हैं.

ऐसा बताय गया कारण
कारण है कि अगर ये मसला और आगे बढ़ा तो देखते ही देखते झगड़ा बढ़ेगा. ऐसे में आम लोगों को नुकसान पहुंचेगा. हेरिटेज मैनेजमेंट एक्‍सपर्ट डॉ. मजहर अब्‍बास नकवी, मीसम रिजवी, मौलाना फखरुद्दीन और सुन्‍नी उलमा काउंसिल के महामंत्री हाजी मोहम्‍मद सलीस ने परेड स्‍थित एक रेस्‍टोरेंट में इसको लेकर वार्ता की. यहां वार्ता के दौरान उन्‍होंने कहा कि वसीम अपने बयानों से देश की एकता और अखंडता को खतरा पहुंचा रहे हैं. ये सब अगर और भी आगे बढ़ा तो स्‍वभाविक तौर पर दो गुटों में झगड़ा पनपेगा और आगे तक बढ़ेगा.

ऐसी उठाई मांग
इस दौरान उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री से चेयरमैन पर दर्ज एफआईआर के खिलाफ़ मिले स्‍टे को खत्‍म करने की भी मांग की. यहां मौजूद डॉ. नकवी और मीसम जैदी ने ये भी बताया कि शिया समुदाय में फतवा इरान या इराक की शीर्ष संस्थाओं से लिया जाता है. उन्‍होंने जानकारी दी कि फतवा देने वालों को मरजा कहा जाता है. इराक स्थित हौज-ए-खास इल्मिया के मरजा मौलाना आगा सीस्तानी और ईरान में मौलाना अयातुल्लाह खामनई को फतवा मांगते वक्त वसीम रिजवी के बयानों आदि का ब्योरा भी दिया गया है.

डॉ. नकवी ने दी जानकारी
यही नहीं यहां डॉ. नकवी ने ये भी बताया कि सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन राम मंदिर-बाबरी मस्जिद प्रकरण में एक जनहित याचिका भी दायर करने का निर्णय लिया गया है. शिया वक्फ बोर्ड के इतर इस रिट में यह दावा किया जाएगा कि मीर बाकी का कोई ऐतिहासिक प्रमाण नहीं है और निर्माण करने वाले शिया नहीं थे क्योंकि वहां कोई इमामबाड़ा नहीं है.

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned