एसआईटी की जांच में हैरान करने वाला खुलासा, विकास दुबे की पत्नी के खिलाफ दर्ज होगा मुकदमा

एसआईटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर जिला प्रशासन ने इन सभी पर केस दर्ज करने के लिए पुलिस आदेश दिए हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 15 Nov 2020, 12:40 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कानपुर-बिकरू कांड में एसआईटी की जांच में एक के बाद एक खुलासे होते जा रहे हैं। अब एसआईटी जांच में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। कुख्यात अपराधी विकास दुबे की पत्नी समेत उसके रिश्तेदारों व परिचितों ने फर्जीवाड़ा करते हुए कागजों पर सिम लिए थे। जो अपराध के दायरे में आता है। इसलिए एसआईटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर जिला प्रशासन ने इन सभी पर केस दर्ज करने के लिए पुलिस आदेश दिए हैं। यहां तक कि फर्जी दस्तावेज पर जय बाजपेई के द्वारा पासपोर्ट भी बनवाया गया था। इन सभी तथ्यों का जांच में खुलासा हुआ है।

एसआईटी की जांच में ही खुलासा हुआ है कि विकास दुबे की पत्नी रिचा सहित राजू वाजपेयी व अन्य कुछ लोगों ने फर्जी आईडी पर सिम ले रखे थे। पुलिस द्वारा छानबीन करते हुए जब इनके मोबाइल नंबरों का ब्योरा खंगाला तो ये तथ्य सामने आए। फिलहाल अपर मुख्य सचिव और एसआईटी अध्यक्ष संजय भूसरेड्डी के निर्देश पर इन सभी के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा गया है। वहीं जय बाजपेई के पासपोर्ट के बारे में पता चला कि आपराधिक इतिहास छिपाने के लिए जय ने फर्जी वोटर आईडी कार्ड पर पासपोर्ट बनवाया था।

ज्ञात हो कि बिकरू में बीते 2 जुलाई की रात विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर विकास व उसके सहयोगियों ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं थीं। इससे सीओ सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। जिसके बाद एक्शन में आई एसटीएफ ने कार्यवाही करते हुए विकास दुबे सहित उसके पांच सहयोगियों को मुठभेड़ में ढेर कर दिया था। बिकरू कांड में पुलिस ने करीब तीन महीने बाद माती कोर्ट में 36 आरोपियों के खिलाफ करीब 1700 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी। इस मामले में दो आरोपी अभी फरार हैं। जबकि विकास दुबे समेत छह बदमाश मारे जा चुके हैं। चार्जशीट के मुताबिक घटना को साजिश के तहत अंजाम दिया गया था।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned