इस मां बाप पर बेटे ने ढाया ऐसा ज़ुल्म, मदद के लिए पहुंचे जिले के मुखिया के पास, सिहर उठे अफसर

न्याय मांगने के लिए जिले के आला अफसर एसपी व डीएम के ऑफिस में चक्कर लगा रहे हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 26 Jun 2020, 11:51 PM IST

कानपुर देहात-एक माँ बाप अपनी पूरी जिंदगी की कमाई अपने बेटे व बेटी पर लगा देते है। क्योंकि उन्हें लगता है कि एक दिन यह कमाई उनके लिए बुढ़ापे का लाठी बनेगी। लेकिन कानपुर देहात जिले में एक सरकारी शिक्षक ने इसकी ऐसी बानगी पेश की, जिससे मानवता भी थर्रा उठी। शिक्षक बेटे ने अपने माँ बाप को पीट पीटकर घर से बाहर निकाल दिया। अब दोनों बुजुर्ग सड़क पर रहकर दूसरों को अपना सहारा बनाए हुए हैं न्याय मांगने के लिए जिले के आला अफसर एसपी व डीएम के ऑफिस में चक्कर लगा रहे हैं।

यह कहानी किसी फिल्म की तो नही है, लेकिन इन दोनों बुजुर्गों की दर्द भरी दास्तां बागवान फ़िल्म की याद जरूर दिला देती है। जहां हर बच्चे अपने माँ बाप को भगवान के रूप में देखते हैं। तो वही माँ बाप भी बचपन से ही अपने बच्चों की हर छोटी-बड़ी ख्वाहिशों का हर तरीके से ख्याल रखते हैं। क्योंकि माँ बाप को भी उम्मीद होती है कि यह हमारे बच्चे बुढ़ापे का सहारा जरूर बनेंगे। लेकिन समय के साथ साथ सब कुछ बदल जाता है। कानपुर देहात जिले में भी एक बुजुर्ग मां बाप के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है कि वो आज सड़कों पर रहने को मजबूर हैं। पेट भरने के लिए आस-पास के लोग तरस खाकर कुछ खिला देते हैं। साथ ही कुछ लोगों ने इन बुजुर्ग दंपति को सहारा दिया, जिसके बाद ये बुजुर्ग न्याय मांगने के लिए खुद एसपी वी डीएम के पास पहुंच गए।

पीड़ित बुजुर्ग कमलेश कुमार का कहना है कि मैं पुखरायां कस्बे के रहने वाला हूं। मेरा बेटा एक सरकारी अध्यापक है, जो रसूलाबाद ब्लाक में पढ़ाता है। मैं भी एक अध्यापक हूं, लेकिन समय के साथ-साथ बीमारी की वजह से आज हम बेसहारा हो गए हैं। हमने अपनी मेहनत से अपना खुद का घर बनवाया। बेटे को पढ़ाया, शादी करवाई। लेकिन अब उसने अपनी पत्नी के साथ मिलकर हम दोनों को मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया। उसने बताया कि हम हार्ट के पेशेंट भी हैं। पत्नी को लेकर इधर उधर घूम रहे है, अब बुढ़ापे में कोई सहारा नही है। इसलिए आज हम खुद जिलाधिकारी के कार्यालय न्याय मांगने आए हैं।

इस पूरे मामले को लेकर जब एडीएम प्रशासन पंकज कुमार से बात की तो उन्होंने बताया कि यहाँ दोनों बुजुर्ग आए थे और बेटे को लेकर शिकायत की थी। जिसके बाद इनकी शिकायत सुनी गई है, जल्द ही इस पर दोनों को न्याय दिलाया जाएगा।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned