सपाईयों ने सीएम योगी के खिलाफ पुलिस को दी तहरीर, 24 घंटे के अंदर कार्रवाई नहीं हुई तो जाएंगे कोर्ट

विधानसभा में दिए गए बयान को लेकर सपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, कैंट थाने में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग।

कानपुर। सीएम योगी आदित्यनाथ के एक बयान को लेकर समाजवादी पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए और जमकर नारेबाजी करते हुए कैट थाने पहुंच गए। सपाईयों ने राष्ट्रीय सम्मान अधिनियम 1971 के तहत पुलिस को तहरीर देते हुए सीएम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पूरे प्रकरण की जांच किए जाने की मांग की है। सपा नेताओं ने कहा कि यदि पुलिस कार्रवाई नहीं करती तो पार्टी कोर्ट में जाकर अर्जी लगाएगी।

क्या है पूरा मामला
सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में कहा थाा कि यह देश समाजवाद नहीं बल्कि रामराज चाहता है। इस बयान को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन करते हुए कैंट थाने पहुंचे। सपाईयों ने पुलिस को तहरीर देकर मुकमदा दर्ज कर मामले की जां कर उचित कार्रवाई की मांग की है। सपाईयों ने ऐलान किया है कि यदि पुलिस दो दिन के अंदर कार्रवाई नहीं करती तो एक बड़ा आंदोलन करेंगे।

लगाए आरोप
सपा नेता अभिमन्यू गुप्ता के मुताबिक सीएम योगी आदित्यनाथ ने सदन में जो कहा वो देश को आहत करने और तकलीफ देने वाला था। सविंधान कि प्रस्तावना में भारत को धर्म निर्पेक्ष देश बनाने की बात कही गई है,लेकिन मुख्यमंत्री जो संवैधानिक पद पर रहते हुए सदन में अपने औपचारिक भाषण के दौरान इस तरह की बात कहते है तो इसका मतलब है कि वो हमारे सविंधान को सम्मान नहीं दे रहे हैं। इससे समाजवादी काफी दुखी और आक्रोषित हैं।

...तो जाएंगे कोर्ट
सपा नेता ने बताया कि राष्ट्रीय सम्मान अधिनियम 1971 के अंतगर्त कैंट थाने में तहरीर देकर पुलिस से मांग करी गई है कि सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ मुकदमा दर्जकर जांच करें। अगर जांच में पाया जाता है कि उन्होंने सविंधान का अपमान किया है तो उनपर उचित कार्रवाई की जाए। सपा नेता का कहना है कि अगर पुलिस हमारी बात नहीं मानेगी तो हम लोग मजबूर होकर सविंधान के तहत माननीय न्यायालय की शरण में जाएंगे।

Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned