रात में सड़क पर घूमता है यूपी पुलिस के ये दयानायक

रात में सड़क पर घूमता है यूपी पुलिस के ये दयानायक

Vinod Nigam | Publish: Jun, 16 2019 09:01:01 AM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

1987 बैच में पीपीएस में भर्ती हुए एसएसपी अनंत देव 2006 में आइपीएस बने और 150 से ज्यादा खुंखार अपराधियों का एनकाउंटर किया, निमें ददुआ और ठोकिया समेत अन्य डकैत शामिल।

कानपुर। अपराधियों के लिए दिल में नफरत तो इंसानों से बेइंतहा प्यार करता है, यूपी पुलिस का ये आईपीएस अफसर अनंत देव तिवारी। जब लोग रात में सोते हैं तो कार में सवार होकर शहर की गलियों और मोहल्लों में जाकर लोगों से सीधे रूबरू होते हैं और पुलिस से मित्रता का गुरूमंत्र देते हैं। वहीं शहर में अपराधियों पर काम बनकर टूटते हैं। पिछले आठ माह के दौरान 65 से ज्यादा शातिरों का हॉफ एनकाउंटर में गिरफर कर जेल भेज चुके हैं। 35 खुंखारों की सूची बना उन्हें दबोचने के लिए तेज-तर्राक थानेदारों को लगाया हुआ है।

 

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news

जनता से सीधे रूबरू
अपराधियों के खिलाफ कानपुर पुलिस हॉफ एनकाउंटर अभियान चलाए हुए है। इसी बीच देररात आईजी जोन कानपुर आलोक सिंह, एसएसपी अनंत देव तिवारी और एसपी रवीना त्यागी सड़क पर उतरे। भोलेश्वर मंदिर से पैदल गश्त पर हुए आईजी और एसएसपी बर्रा-दो सब्जी मंडी पहुंचे और सीधे लोगों से संवाद स्थापित करके दिक्कतों को जाना। एसएसपी ने सीधे एक युवती से पूछा कि मोहल्ले में कोई शातिर तो नहीं जो आपको परेशान करता हो। अगर कोई और परेशानी हो तो बताएं। यूवती ने सिर हिलाकर कहा, कोई परेशानी नहीं है। इसके बाद उन्होंने युवती को महिला हेल्पलाइन 1090 के बारे में जानकारी दी। बोले, कोई दिक्कत आए तो सीधे इस पर कॉल करें।

 

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news

आईजी के साथ किया गश्त
एसएसपी ने बीट पुलिसिंग को मजबूत करने के लिए पिंक चौकी पुलिस और थाना सिपाहियों को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से एप के जरिए जियो टैगिंग भी करवाई। कई जगह सड़क किनारे से अतिक्रमण भी हटवाया। गश्त के दौरान आईजी और एसएसपी ने ज्वैलर्स से सुरक्षा के बंदोबस्त के बारे में भी जानकारी की। सीसीटीवी कैमरे में लगे होने की जानकारी पर अलार्म लगवाने के निर्देश भी दिए। कर्रही रोड पर पैदल गश्त के दौरान गुलाबी बिल्डिंग के पास कोचिंग के नीचे शराब ठेका और अतिक्रमण करके बनाई गई कैंटीन देख एसएसपी भड़क गए। तत्काल बर्रा चौकी प्रभारी पंकज कुमार को बुलाया और फटकार लगाते हुए कहा, अगर कैंटीन नहीं हटी तो तुम भी नहीं रहोगे। उन्होंने तत्काल कैंटीन हटवाने के निर्देश दिए।

 

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news

कौन हैं एसएसपी अनंत देव तिवारी
एसएसपी अनंत देव तिवारी फतेहपुर जिले के थाना चांदपुर के गांव गढ़ के रहने वाले हैं। इनके पिता पेशे से कथावाचक हैं। 1987 बैच में पीपीएस में भर्ती हुए एसएसपी अनंत देव 2006 में आइपीएस बने। उन्होंने 1997 में शहर में स्वरूपनगर, सदर, कलेक्टरगंज में सीओ पद तैनात रहने के दौरान कई बड़ी घटनाओं के खुलासे किए। एसटीएफ में लंबा समय बिताने वाले श्री तिवारी ने अपनी सर्विस के दौरान 150 एंकाउंटर को लीड किया, जिसमें 38 में खुद गोली मारी। एसएसपी अनंत देव तिवारी ने पाठा के अलावा चंबल व बीहड़ में डकैतों के लिए कामन बनें। बसपा सरकार के दौरान कई डकैतों का एनकाउंटर कर बीहड़ से बंदूक को पूरी तरह से खामोश कर दिया।

 

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news

ददुआ का किया एनकाउंटर
एसएसपी अनंत देव तिवारी ने पाठा के बेताब बादशाह रहे डकैत ददुआ को मुठभेड़ के बाद मार गिराया था। ददुआ तीस साल तक पुलिस के लिए सिरदर्द बना रहा। मायावती सरकार आने के बाद एसएसपी अनंत देव तिवारी को पाठा में उतारा गया। जिसके चलते ददुआ के अलावा ठोकिया समेत कई इनामी अपराधी व दो आतंकी भी शामिल हैं। वह दर्जन भर जिलों में सीओ व एएसपी रहने के साथ ही सिद्धार्थनगर, आजमगढ़, प्रतापगढ़, बुलंदशहर, गोरखपुर, फैजाबाद और मुजफ्फरनगर में कप्तान रहे। पुलिस सर्विस में आने से पहले मध्यप्रदेश के बेतूर में बतौर एसडीएम भी काम किया है।

 

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news

65 से ज्यादा का हॉफ एनकाउंटर
एसएसपी अनंत देव तिवारी ने शहर के शातिर 100 से ज्यादा बदमाशों की कुंडली खंगाली और जिले के सभी थानेदारों को लिस्ट सौंद कर जल्द से जल्द इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजने का आदेश दिया। पिछले आठ माह के दौरान पुलिस मुठभेड़ में 65 से ज्यादा अपराधी पुलिस की गोली से घायल होकर जेल भेजे गए हैं। साथ ही 50 से ज्यादा ने लंगड़ा होने के डर से खुद कोर्ट में सरेंडर कर जेल चले गए। एसएसपी ने कहा कि पुलिस शहर के आमलोगों की हिफाजद के लिए है। अपराधी अपराध छोड़ दें, य अजांम भुगतने को तैयार रहें। किसी भी कीमत पर अपराधी बख्से नहीं जाएंगे।

 

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news

हर चैलेंज स्वीकार
एसएसपी ने कहा कि पुलिस के हर चैलेंज स्वीकार किए जाएंगे। महिला संबंधित अपराध के लिए एंटी रोमियो, महिला हेल्प लाइन जैसी सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वहीं थानों पर आने वाले पीड़ितों को भटकना न पड़े इसके लिए उन्हें रिसीविंग दी गई है। जिससे वह निर्धारित समय पर अपनी शिकायत की प्रगति पूछ सकें और संतुष्ट न होने पर उसके आधार पर संबंधित अधिकारी से शिकायत कर सकें। एएसपी से लेकर सिपाही तक ही हर घटना पर जवाबदेही तय की गई है। कोई भी अपनी ड्यूटी से बच नहीं सकता। गश्त में हीलाहवाली और आम जनता से संबंध सुधारने के हर संभव प्रयास किए जाएंगे। पीड़ित के साथ अभद्रता करने वाले पुलिस कर्मी को किसी सूरत में बख्सा नहीं जाएगा।

ssp anant dev tiwari life story in kanpur hindi news
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned