पत्नी को खत्म करने की दी सुपारी, पुलिस के हत्थे लगे आरोपी किलर

नगर निगम जोन चार के अधिशाषी अभियंता ने अपनी पत्नी को मारने के लिए शूटरों को सुपरी दी।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 11 Sep 2017, 02:39 PM IST

कानपुर. नगर निगम जोन चार के अधिशाषी अभियंता ने अपनी पत्नी को मारने के लिए शूटरों को सुपरी दी। शूटरों ने सात सितंबर को देरशाम घर में धावा बोलकर महिला पर हमला कर दिया। चाकुओं से शरीर पर कई वार किए और मृत समझ कर मौके से फरार हो गए। इसी दौरान पड़ेसी महिला की चीख पुकार सुनकर आ गए और उसे हॉस्पिटल में एडमिट करवाया। पुलिस ने महिला की तहरीर पर मामला दर्ज कर दो आरोपियों को अरेस्ट कर लिया। जिन्होंने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्होंने महिला को मारने के लिए दो लाख की सुपारी ली थी।


बर्रा थाना क्षेत्र स्थित तात्याटोपे नगर में रहने वाले प्रवीन कुमार श्रीवास्तव (53) नगर निगम जोन चार में अधिशासी अभियंता के पद पर तैनात हैं। परिवार में पत्नी विभा (48) अपने बेटे निशांत और प्रशांत के साथ रहते हैं। इनका बड़ा बेटा निशांत मर्चेंट नेवी में है और वह इण्डिया से बाहर है। वहीं छोटा बेटा प्रशांत गाजियाबाद से बीटेक कर रहा है। मां के ऊपर जानलेवा हमले की जानकारी के बाद भी बेटे उनको देखने के लिए नहीं आए। बीते 7 सितम्बर की दोपहर विभा घर पर अकेले थीं, तभी उनका रसोईया गोलू शुक्ला आया और उसके पीछे से धीरज नाम का शख्स आया। दोनों ने विभा को दबोच लिया और किचन में रखी चाकू से धीरज ने विभा के पेट और गर्दन पर कई वार कर दिया। विभा खून से लथपथ हो गई और फर्श पर गिर पड़ी। धीरज और गोलू दो सोने की चेन एक अंगूठी और 48 सौ रुपये लेकर भाग गए। किसी तरह विभा घर के बाहर निकली उसकी हालत देखकर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी एपुलिस ने उसे रिजेंशी हास्पिटल में भर्ती कराया।


एसपी साउथ अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि महिला के पति प्रवीन कुमार जो नगर निगम में जोन चार के अधिशासी अभियंता हैं, इन्होने अपनी पत्नी को जान से मारने का प्लान बनाया था और 2 लाख रुपये की सुपारी दी थी। इस घटना के बाद प्रवीन ने तहरीर दी थी, जिसमें हमने प्रवीन कुमार के ड्राइवर अंकित को पकड़ा और उससे पूछताछ की। हमें कुछ सुराग मिले, इसके बाद हमारी टीम ने प्रवीन कुमार के रसोइये को पकड़ा और सख्ती से पूछताछ करने पर उसने पूरे घटना क्रम का खुलासा कर दिया। जिसमें गोलू ने बताया कि प्रवीन कुमार ने पहले विभा मैडम को मारने की सुपारी मुझे दी थी। लेकिन मैंने कहा यह काम मेरे अकेले बस की नहीं है। उन्होंने इस काम के लिए धीरज को तैयार किया। इसके एवरेज में प्रवीनने उसे 1 लाख 80 हजार रुपये दिए थे और 10 हजार रुपये मुझे दिया था। 20 हजार रुपये धीरज को काम होने के बाद मिलना था।


एसपी साउथ के मुताबिक पूछताछ में प्रवीन ने बताया है कि इनकी पत्नी से पटती नहीं थी। आये दिन झगडा होता था। पत्नी इन्हें खाना तक खाने को नहीं देती थी स जिससे वो अजीज हो गए थे इसकी वजह से जान से मारने का प्लान बनाया था। उन्होंने बताया कि गोलू और प्रवीन पुलिस हिरासत में है धीरज की तलाश जारी है। लूटा गया माल भी बरामद कर लिया गया है।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned