इस शख्स ने पीएम नरेंद्र मोदी के लिए छेड़ी अनोखी मुहिम, कर रहा है बड़ा काम

Nitin Srivastava

Publish: Dec, 08 2017 12:19:46 (IST) | Updated: Dec, 08 2017 12:19:47 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
इस शख्स ने पीएम नरेंद्र मोदी के लिए छेड़ी अनोखी मुहिम, कर रहा है बड़ा काम

अनिल कुमार ने पीएम के मन की बात जन-जन तक पहुंचाने के लिए अनोखी मुहिम छेड़ी हुई है...

कानपुर. शहर के इंद्रानगर निवासी एक चायवाले अनिल कुमार ने पीएम के मन की बात जन-जन तक पहुंचाने के लिए अनोखी मुहिम छेड़ी हुई है। वह भोर पहर दुकान खोलने से पहले पीएम का संदेश बकाएदा एक बोर्ड में लिखता है और फिर चाय का भगौना चढ़ाता है। लोग आते हैं और चाय की चुस्कियों के साथ पीएम देश के नागरिकों के लिए कौन-कौन सी योजनाएं चला रहे हैं, उसकी जानकारी निशुल्क लेते हैं। अनिल बताते हैं कि इस भागम-भाग के चलते पब्लिक रविवार को रेडियो में पीएम की मन की बात नहीं सुन पाते। इसी के चलते मैं उनके कहे शब्द जनता तक पहुंचाता हूं।

 

पीएम के काम को पहुंचा रहे लोगों तक

मूलरूप से कालपी के रहने वाले अनिल कुमार 35 साल पहले कानपुर के इंद्रानगर में आकर बस गए और यहीं पर सड़क के किनारे चाय की दुकान लगा ली। लोकसभा चुनाव के वक्त जब नरेंद्र मोदी को भाजपा ने पीएम कैंडीडेट घाषित किया तो विरोधी दलों के नेताओं ने उनके दूसरे रूप चायवाले को जनता के बीच लाए। अनिल को जब इसकी जानकारी हुई तो वह पीएम नरेंद्र मोदी के फैन हो गए। अनिल ने बताया कि पीएम मोदी लोकसभा और विधानसभा चुनाव के वक्त कानपुर में रैली करने के लिए आए और हम चाय की केतली लेकर रैली स्थल पर पहुंचे। उन्हें सुनने आई जनता को चाय पिलाया और ईमानदार नेता को वोट देने को कहा।


चायवाला करप्ट नहीं दिलदार होता है गुरू!

अनिल कहते हैं कि चायवाले की पहचान गरीब तबके से होती है। लोगों से हमें वो रिस्पेक्ट नहीं मिलती। लेकिन पीएम मोदी ने जनता के लिए काम किया। साढ़े तीन साल के दौरान उनके दामन पर एक भी करप्शन का दाग नहीं लगा। गुरू चाय वाले बहुत दिलदार होता है। मकर संक्राति के दिन हम दुकान पर खिचड़ी बनाकर लोगों में बाटते हैं और सर्दी में गरीबों को मुफ्त में चाय पिलाते हैं। 8 नवम्बर को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात में नोटबंदी का फैसला सुनाया तब से अनिल प्रधानमंत्री के कायल हो गए। अनिल ने बताया कि जब लोग बैंक के बाहर लाइन पर खड़े होते थे, तब हम उनका हौसला अफजाई करते थे। कभी-कभी चाय की केतली लेकर पहुंच जाते और उन्हें थकान न हो इसके चलते उन्हें चाय पिलाते।


स्वच्छता के संदेश के साथ खुद लगाते हैं झाड़ू

अनिल प्रधानमंत्री के मन की बात को ही आगे नहीं बढ़ा रहे हैं, बल्कि इन्होंने प्रधानमंत्री पर कई कविताएं भी लिखी हैं।अनिल अपनी दुकान पर महापुरषों के जन्मदिवस पर लोगों को अपनी लिखी कविता सुनाते हैं। अनिल लोगों को स्वच्छता का सन्देश भी देते हैं, जिसमे आसपास स्वच्छ रखने के साथ गंदगी ना फैलाने की अपील भी करते हैं। गली, मोहल्ले में अगर सफाईकर्मी नहीं आता तो अनिल रात को झाड़ू लेकर सड़क पर उतर कर सफाई करने लगते हैं। अनिल की दुकान पर सुबह से ही लोग चाय पीने के लिए आना शुरू कर देते हैं। यह लोग अनिल की लिखी मन की बात को बड़े ध्यान से पढ़ते हैं और आपस में उसपर चर्चा भी करते हैं। दुकान पर चाय पीने आए लोग बताते हैं कि अगर मोदी जी ने कोई मन की बात कही और उसको सुन नहीं पाए तो वह यंहा पर लिखा हुआ देख लेते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned