कानपुर के जाजमऊ में तनाव - सांप्रदायिक तनाव के बीच पुलिस की कड़ी कार्रवाई

- मुख्यमंत्री के के निर्देश के बाद पुलिस ने दिखाई तेजी

- मृतक परिजनों का पुलिस पर भी आरोप

By: Narendra Awasthi

Published: 17 Nov 2020, 10:14 AM IST

कानपुर. पानी के बूंद की सीटें को बहाना बनाकर भीड़ इकट्ठा कर एक युवक की हत्या कर दी गई। कानपुर के चकेरी थाना अंतर्गत जाजमऊ चौकी अंतर्गत वाजिदपुर की घटना को शासन ने संज्ञान में लिया और पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने उपद्रवियों के खिलाफ रासुका सहित अन्य मामलों में कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री का सख्त आदेश कि कार्रवाई नजीर बने। जिससे कि भविष्य में शांति व्यवस्था वह सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की हिम्मत न करें।

छावनी थाना क्षेत्र की घटना

गौरतलब है छावनी थाना अंतर्गत जाजमऊ चौकी वाजिदपुर में पानी की छींटे पड़ने के बाद वर्गों में विवाद हो गया। जिसमें आलम ने अपने साथियों को बुलाकर ईटा पत्थर डंडों से हमला बोल दिया। जिसमें पिंटू निषाद, पिता श्रीराम, भाई दीपक, चाचा रामकिशोर, दशरथ, संदीप, अनिल आदि घायल हो गए थे। जिसमें पिंटू को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद क्षेत्र में तनाव फैल गया। बड़ी संख्या में पुलिस व पीएसी को तैनात किया गया है।

परिजनों का आरोप

मृतक परिजनों का आरोप है कि पुलिस मुख दर्शक की भांति खड़े होकर दबंगों के आतंक को देखते रही। घटना की जानकारी मिलने पर एसएसपी डॉ प्रीतिंदर सिंह, सहित अन्य अधिकारियों ने निरीक्षण किया मृतक परिजनों की तहरीर पर फैज मोहम्मद, अमान, फरमान, लाल मोहम्मद, आलम, इमरान, इकबाल, तालिब, बबलू, मेराज, मोसिन उर्फ मुल्ला आदि के खिलाफ हत्या बलवा आदि संगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया गया है। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया है।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned