जेल की बैरक में बंदी ने उठाया खौफनाक कदम, इसे बना लिया हथियार और फिर

बताया गया कि रुस्तम व उसके पिता दोनों इसी जेल में बंद हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 23 Aug 2020, 07:10 PM IST

कानपुर देहात-जनपद की जिला जेल में गैंगस्टर एक्ट में बंद एक बंदी ने खाने वाली चम्मच को धारदार बनाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया। बंदी ने धारदार चम्मच से अपनी गर्दन व कलाई काट ली। जिसे देख अन्य बंदियों में सनसनी फ़ैल गई। तत्काल जेल प्रशासन सक्रियता दिखाते हुए उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां हालत गम्भीर देख उसे हैलट कानपुर भेज दिया गया। बताया गया कि कानपुर जिले के चौबेपुर निवासी बंदी रुस्तम पर चोरी सहित अन्य मुकदमे दर्ज थे। इसी साल अमराहट पुलिस ने 21 मार्च को उसे जेल भेजा था। बताया गया कि रुस्तम व उसके पिता दोनों इसी जेल में बंद हैं।

रुस्तम के पिता राशिद पर भी चौबेपुर में एक मासूम के साथ दुष्कर्म का आरोप लगा था, जिसमें उसे 3 साल पहले आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। तब से वह कानपुर देहात की माती जेल में सजा काट रहा है। बीते दिन रुस्तम द्वारा चम्मच से गर्दन व कलाई काट ली गई। खाने वाली चम्मच व थाली को रुस्तम द्वारा पत्थर पर घिस घिसकर धारदार बनाने की बात सामने आ रही है। जेल प्रशासन को दोनों वस्तुएं वहां मिली, चम्मच पर खून के धब्बे मिलने से उसे ही काटने में इस्तेमाल करने की बात सामने आ रही है। वहीं जेलर कुश कुमार ने बताया कि उसने बैरक के अंदर खुद का गला रेता है। पत्थर पर चम्मच घिसकर धारदार बनाने की आशंका है। फिलहाल जांच की जा रही है।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned