स्वास्थ्य कर्मियों ने पेश की ये मिसाल, बन गए सभी के लिए नजीर, यूपी में बनाया प्रथम स्थान

स्वास्थ्य कर्मियों ने पेश की ये मिसाल, बन गए सभी के लिए नजीर, यूपी में बनाया प्रथम स्थान

Arvind Kumar Verma | Publish: Sep, 16 2018 01:27:59 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 01:28:00 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

जिले के दो पीएचसी के चिकित्साधीक्षकों ने स्वच्छता मिशन के अंतर्गत प्रदेश मे अब्बल स्थान बनाया है, जिन्हे स्वास्थ्य मंत्री ने लखनऊ के एक कार्यक्रम में कायाकल्प योजना के तहत सम्मानित किया है।

कानपुर देहात- स्वास्थ्य सेवाओं में जनपद का नाम प्रदेश में शीर्ष स्थान पर लिखा गया है। बताते चलें कि कायाकल्प योजना के अंतर्गत कानपुर देहात के राजपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 95 अंक तथा सरवन खेड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 90 अंक रैकिंग में मिले हैं। इन अंकों के आधार पर कायाकल्प योजना में प्रदेश में राजपुर पीएचसी को प्रथम स्थान हासिल हुआ है एवं सरवन खेड़ा पीएचपी को प्रदेश में द्वितीय स्थान मिला है। दरअसल लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह एवं एनएचएम डायरेक्टर पंकज कुमार द्वारा जनपद के राजपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के एमओआईसी डॉक्टर डीके सिंह तथा सरवनखेड़ा के एमओआईसी डॉ रवी प्रकाश को प्रमाण पत्र व प्रतीक चिन्ह भेंट कर उन्हें सम्मानित किया गया।

 

75 जिलों के सीएमओ रहे मौजूद

उन्होंने कहा कानपुर देहात ने कायाकल्प योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में जो स्थान बनाया है, वह अन्य स्वास्थ्य केंद्रों के लिए नजीर है। सरकार के इस स्वास्थ्य स्वच्छता अभियान में सभी स्वास्थ्य कर्मी बढ़ चढ़कर हिस्सा लें और इस अभियान को सफल करें। इस दौरान कानपुर देहात मुख्य चिकित्साधिकारी डा. हीरा सिंह भी मौके मौजूद रहे। वहीं इस कार्यक्रम मे प्रदेश के 75 जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी, एमएलसी सहित भारी संख्या में स्वास्थ विभाग के आला अफसर मौजूद रहे।

 

ये है कायाकल्प योजना

बता दें कि सरकार ने सूबे के समस्त सरकारी अस्पतालों को साफ सुथरा एवं नशा मुक्ति स्थल के रूप में बनाने के लिए बाकयदा एक कायाकल्प एवार्ड स्कीम की शुरुवात की थी। जिसके तहत इस अभियान में सफलता हासिल करने वाले अस्पताल प्रबंधन को 50 लाख रूपये तक का इनाम मिलने का प्रावधान है, जिसमें एवार्ड की रकम का कुछ हिस्सा निजी मद और अस्पताल के विकास कार्यों में खर्च किया जा सकता है। ये स्कीम सूबे के सभी जिला अस्पतालों के लिए प्रदेश सरकार की तरफ से लागू की गयी थी। जिसमें अस्पतालों को साफ़ सुथरा बनाकर स्वास्थ्य कर्मी 50 लाख का कायाकल्प इनाम जीत सकते हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned