इस गांव का है कुछ ऐसा नजारा, समस्याओं से जूझ रहे ग्रामीण मांग रहे अपना अधिकार

ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि चहेतों को उस योजना का लाभ देते हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 12 Aug 2020, 05:34 PM IST

कानपुर देहात-केंद्र हो या प्रदेश सरकार स्वच्छता अभियान को लेकर सजग है। इसके लिए प्रशासनिक अफसरों को निर्देशित करने के साथ आम नागरिकों को जागरूक किया जा रहा है। बावजूद इसके कई गांव में आज भी गंदगी की भरमार है। ऐसा ही एक नजारा कानपुर देहात के झींझक ब्लॉक के जलिहापुर गांव का है, जहां स्वच्छता अभियान धराशाई नजर आ रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक गांव में विकास कार्य नहीं कराए जा रहे हैं। ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए कहा कि शौंचालय या कोई योजना हो ग्राम प्रधान चहेतों को उस योजना का लाभ देते हैं। गांव में जगह जगह गंदगी की भरमार है। इसे चलते ग्रामीणों ने रोष व्याप्त है।

कानपुर देहात के झींझक के जलिहापुर गांव मे गंदगी का अम्बार लगा हुआ है। जिससे बीमारियों की आशंका को लेकर ग्रामीणों मै भय व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में न ही सडकों का निर्माण हुआ है न ही गरीब परिवार को शौचालय एवं आवास आवंटित किए गए हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिनके पास पैसा है, उन्हीं का कार्य प्रधान जी करते हैं। गांव वालों ने बताया कि प्रधान के पास कोई भी समस्या लेकर जाते है तो अनुसना कर वापस लौटा देते हैं। पूरे गांव मे लगभग जलभराव की समस्या सबसे ज्यादा है।

बरसात में इससे फैलने वाली बीमारियों की आशंका को लेकर हमलोग परेशान हैं। ग्रामीण ने बताया कि पात्र होने के बावजूद आवास नहीं दिया गया। जब मैंने प्रधान से कहा तो प्रधान ने कोई बात नहीं सुनी। ग्राम प्रधान अपनी मनमानी के चलते गांव में विकास नहीं करवा रहे हैं। गांव के विकास को लेकर कई बार प्रधान को अवगत कराया, लेकिन उन्होंने कोई जवाब ही नहीं दिया। वहीं इस संबंध में ग्राम प्रधान से बात करनी चाही तो बात नहीं हो सकी।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned