बोरवेल की जहरीली गैस निगल गयी दो जिंदगी, तीसरा भाई हुआ गंभीर, मचा हड़कंप

बोरवेल की जहरीली गैस निगल गयी दो जिंदगी, तीसरा भाई हुआ गंभीर, मचा हड़कंप

Arvind Kumar Verma | Publish: Sep, 07 2018 04:54:43 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

बोरवेल में पंखे में फंसी बेल्ट ठीक करने के चक्कर में दो सगे भाईयों की जहरीली गैस से दम घुटने से मौत हो गयी। पिता सहित परिजनों का हाल बेहाल है, पूरे क्षेत्र में हडकम्प मच गया।

कानपुर देहात-जनपद के रसूलाबाद क्षेत्र के गांव तरसौली दो सगे भाइयों की मौत का ऐसा मामला सामने आया, जिसे देखकर लोगों की रूह कांप गयी। दरअसल इंजन के बोरवेल में पंखा खोलने के लिए 22 फीट गहरे गड्ढे में उतरे युवक की मौत हो गई। काफी देर तक भाई की ऊपर कोई आवाज़ न आने पर दूसरा भाई नीचे उतरा तो बाहर खड़े तीसरे भाई ने आवाज़ दी लेकिन कोई उत्तर नही मिला। इस पर तीसरा भाई भी बोरवेल में उतरने लगा। तभी उसकी भी सांस फूलने लगी। ग्रामीणों ने आनन-फानन में तीसरे भाई को ऊपर खींचकर बाहर निकाला। इस पर ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों युवकों को बाहर निकाला। अचेतावस्था में दोनों को अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

 

बोरवेल में थी जहरीली गैस

दरअसल थाना क्षेत्र रसूलाबाद के ताजपुर तरसौली गांव में मिठ्ठू लाल के खेत में बने बोरवेल में बेल्ट फंस गई थी। बताया गया कि गांव का राजेश पुत्र जगजीवन 20 फीट गहरे बोरवेल के अंदर पँखे में फंसी बेल्ट को ठीक करने के लिए बोरवेल में उतर गया। तभी दम घुटने से उसकी मौत हो गयी। काफी देर तक जब वह नहीं लौटा तो उसका छोटा भाई सतेंद्र नीचे उतरा तो वह भी वापस नही आया और वहीं गिर गया तो तीसरा भाई विकास भी नीचे उतरा। तभी जैसे ही आधी दूर पहुँचा तो उसको लगा कि दम घुट रही है, उसके शोर मचाने पर ग्रामीणों ने उसे खींचकर बाहर निकाला। उसने आप बीती बताई तो गाँव मे सूचना पहुँचते ही हड़कम्प मच गया। पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दी।

 

डाक्टर ने किया दोनों को मृत घोषित

मौके पर पहुँची पुलिस ने हालात देख आक्सीजन मंगाकर बोरवेल में डाली। इसके बाद मॉस्क लगाकर नीचे उतरे सिपाहियों ने दोनों युवक भाइयों को सीएचसी रसूलाबाद लाये, जहाँ पर डॉक्टर अमित वर्मा ने दोनों भाइयों को मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद परिजनों में चीत्कार मच गया। वहीं पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है। इस दोहरी घटना से पूरे क्षेत्र व गाँव मे हड़कम्प मच गया है। हालांकि पिता जगजीवन लाल ने मिट्ठूलाल पर आरोप लगाया है कि उसने जान बूझकर मेरे बेटों को बोरवेल में उतारा है, जबकि ग्रामीणों के अनुसार मजदूरी के लालच में वे बोरवेल में उतरे थे। वहीं मौके पर पहुँचे तहसील अधिकारियों व विधायक निर्मला संखवार ने शासन से हर सम्भव मदद दिलाने का भरोसा परिजनों दिया है।

Ad Block is Banned