यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए बना सुरक्षा ‘चक्रव्यूह’ भेद पाना मुमकिन ही नहीं नामुकिन

18 फरवरी से शुरू हो रही परीक्षा, जनपद के 128 परीक्षा केंद्रों में कक्षा दसवीं में 53526 और बारवीं में 53643 परिक्षार्थी देंगे एग्जाम, डीएम और एसएसपी ने तैयारियों को लेकर की बैठक, दिए दिशानिर्देश।

कानपुर। यूपी बोर्ड परीक्षा मंगलवार से शुरू हो रही हैं। जिसको लेकर पुलिस-प्रशासन के साथ ही शिक्षा विभाग ने पहले से पूरी तैयारियां कर ली हैं। परीक्षा को नकल विहीन कराने को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जमीन से लेकर आसमान से निगरानी की जाएगी। नकल कराने और करने वालों पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाएगा। जनपद में 128 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।ं हाईस्कूल के 53526 व इंटरमीडिएट के 53543 परिक्षार्थी 2020 की परीक्षा में बैठेंगे।

कसी कमर
नकल विहीन परीक्षा सपंन्न कराने के लिए जिलाप्रशासन ने कमर कस ली। इस बार यूपी बोर्ड परीक्षा केंद्रों के अंदर और बाहर सुरक्षा का ऐसा ‘चक्रव्यूह’ तैयार किया गया है, जिसे भेद पाना न केवल नकल माफियाओं के लिए बल्कि किसी अन्य के लिए भी मुश्किल होगा। केंद्रों में परीक्षा कक्ष और प्रधानाचार्य कक्ष को छोड़कर बाकी सभी कमरे सील किये जाएंगे। . किसी केंद्र पर नकल मिली, तो केंद्र प्रभारी को भी जेल हो सकती है।. परीक्षा को लेकर कंट्रोल रूम भी बना दिए गए हैं। परीक्षा केंद्रों में वॉयस रिकॉर्डिंग वाले सीसीटीवी लगाए गए हैं।

ऐसी रहेगी सुरक्षा-व्यवस्था
डीएम डॉक्टर ब्रह्मदेव राम तिवारी ने बताया कि परीक्षा कक्ष से लेकर केंद्र तक जहां भी सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। उनकी रिकॉर्डिंग को एक सप्ताह तक सुरक्षित रखा जाएगा। किसी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण परीक्षा कक्ष में नहीं जाएगा। अध्यापक भी मोबाइल नहीं ले जा सकेंगे। 24 मजिस्ट्रेट की ड्यूटी लगाई गई है। डीएम ने बताया कि 128 परीक्षा केंद्रों की 16 सेक्टर मजिस्ट्रेट, पांच जोनल और तीन सेक्टर मजिस्ट्रेट निगरानी करेंगे। इसके अलावा पांच सचल दल भी परीक्षाओं के दौरान अपनी निगाह रखेंगे।

केंद्र प्रभारी पर कार्रवाई
डीएम ने बताया कि परीक्षा कक्ष तथा प्रिंसिपल रुम के अलावा विद्यालयों के सभी कमरे बंद रहेंगे। अगर किसी केंद्र में नकल होते मिली तो केंद्र प्रभारी को भी जेल भेजने की कार्रवाई की जा सकती है। परीक्षा केंद्र में एक ही मुख्य द्वार से परीक्षार्थी आएंगे और जाएंगे, बाकी सभी गेट सील किये जाएंगे। इसके अलावा विद्यालय में स्टाफ के अलावा किसी अन्य व्यक्ति की चहलकदमी तक नहीं होगी। परीक्षा केंद्रों के बाहर परिक्षार्थियों की तलाशी की जाएगी। डीएम ने छात्रों से कहा कि वह बिना डरे परीक्षा दें अच्छे अंक के साथ परीक्षा उत्तीर्ण करें।

सीसीटीवी के जरिए निगरानी
परीक्षा केंद्रों में लगे सीसीटीवी कैमरों की निगरानी 25 कंप्यूटरों के जरिए की जाएगी। इसका केंद्र जवाहरनगर स्थित ओंकारेश्वर सरस्वती विद्यानिकेतन इंटर कॉलेज को बनाया गया है। इस केंद्र का प्रभारी एडीएम वित्त एवं राजस्व वीरेंद्र पांडेय को बनाया गया है। इसके अलावा परीक्षाओं को लेकर जीआईसी में कंट्रोल रूम बनाया गया है। यहां पर मोबाइल नंबर 9411397780 पर कोई भी परीक्षाओं को लेकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। डीएम ने बताया कि परीक्षा केंद्र के प्रभारी को यह बताना होगा कि वह प्रश्नपत्र लेकर किस कर्मचारी को भेज रहे हैं। उसके आने और जाने का समय नोट किया जाएगा।

रासुका की कार्रवाई
एसएसपी अनंत देव ने बताया कि सभी केंद्र प्रभारी अपने नजदीक के थाना और चैकी प्रभारी के साथ बैठक कर सुरक्षा पर मंथन करेंगे। केंद्र प्रभारी थाना और चैकी प्रभारी का मोबाइल नंबर भी अपने पास रखेंगे, जिससे अगर कोई जरूरत हो तो तुरंत उनसे संपर्क किया जा सके। उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र के 100 मीटर तक लोगों का आना और जाना प्रतिबंधित रहेगा। इसके अलावा पुलिस कंट्रोल रूम के नंबर 9454400384 और 112 पर शिकायत दर्ज करायी जा सकती है। नकल कराने वालों पर रासुका के तहत भी कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned