अचानक एक सैकड़ा ग्रामीणों ने तहसील में बोल दिया हल्ला, तहसील प्रशासन पर लगाये गंभीर आरोप

आक्रोशित ग्रामीणों ने तहसील में हल्ला बोल दिया और जमकर नारेबाजी की।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 05 Sep 2019, 04:00 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-जिले की रसूलाबाद तहसील में अचानक किसान यूनियन का हुजूम उमड़ पड़ा। लोग तहसील प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए दाखिल हुए तो लोग देखते ही रह गए। उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही गरीबों को उनके हक का अनाज देने की बात कर रहे हो, लेकिन राशन रिटेलर की मनमानी के चलते गरीबों के अन्न को राशन माफिया बेखौफ होकर खा रहे हैं। वहीं जिम्मेदार भी ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने में कोताही बरत रहे हैं। आरोप है कि बीते 6 अगस्त को ब्राह्मण गांव के कोटेदार द्वारा बाजार में बिक्री के लिए जा रहे सरकारी राशन लदी पिकअप गाड़ी को ग्रामीणों ने प्रशासन को सूचना देकर पकड़वा दिया था।

शिकायत के बाद भी खड़ी राशन की पिकअप गाड़ी में कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिससे आक्रोशित ग्रामीणों ने तहसील में हल्ला बोल दिया और जमकर नारेबाजी की। बताया गया कि रसूलाबाद तहसील क्षेत्र के ब्राह्मण गांव में 6 अगस्त को राशन रिटेलर कमलेश कुमार द्वारा सरकारी गल्ला लादकर बेचने के लिए भेजा जा रहा था। तभी बिल्हा में ग्रामीणों ने गल्ला लदी गाड़ी को पुलिस द्वारा पकड़ा दिया था। जिसकी सूचना तहसील प्रशासन को भी हुई। मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार ने जांच की, लेकिन अभी तक मामले में कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी। इसके चलते एक सैकड़ा से अधिक ग्रामीणों व किसान यूनियन ने तहसील में तहसीलदार को शिकायत की। ग्रामीणों ने चेताया कि आहार मामले में कोई निष्पक्ष कार्रवाई नहीं हुई तो अनिश्चित कालीन धरना देंगे। तहसीलदार संजय कुशवाहा ने कहा कि जाँच कराकर विधिक कार्रवाई की जाएगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned