शस्त्र शौकीनों के लिये बड़ी खबरः मशहूर रिवाल्वर 'वेब्ले’ का अत्याधुनकि भारतीय मॉडल लांच, पहले ही दिन हो गई इतनी बुकिंग

  • भारत में निर्मित पहली मेक इन इंडिया वेब्ले रिवाल्वर
  • पुरानी वेब्ले के आधे से भी कम रखी गई है कीमत है Webley Scott Revolver

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कानपुर. दुनिया भर के शस्त्र शौकीनों के बीच बेहद पसंद की जाने वाली 'वेब्ले रिवाल्वर’ (Webley Scott Revolver) के निर्माता वेब्ले ने अपना पहला भारतीय माॅडल लांच कर दिया है। 'वेब्ले स्काॅट’ कंपनी की पहली मेक इन इंडिया रिवाल्वर है, जिसे संडीला स्थित मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में बनया गया है। इसकी कीमत पुरानी वेब्ले रिवाल्वर के आधे से भी कम रखी गई है। सइस पर जीएसटी अलग से चार्ज होगा। यह बेहद खूबसरत पाॅकेट और रेग्युलर माॅडल में उतारा गया है। वेब्ले ने भारतीय बाजार में स्याल ग्रुप के साथ समझौता किया है। वेब्ले ने 35 साल बाद भारतीय बाजार में अपना शस्त्र उतारा है। मेक इन इंडिया के तहत पूरी तरह से भारतीय 'वेब्ले’ रिवाल्वर लांच के बाद इसके भारतीय प्रवर्तक स्याल ग्रुप ने इसके लिये पीएम मोदी और सीएम योगी का शुकिया अदा किया है।

ये हैं वेब्ले के नए माॅडल

शस्त्र निर्माता कंपनी 'वेब्ले स्काॅट’ की 'ए’ और 'बी’ सिरीज पूरी दुनिया में पसंद की जाती है। कंपनी ने मेक इंन इंडिया के तहत भारत में जो पहला माॅडल पेश किया है वह वेब्ले की अत्याधुनिक 'सी’ सिरीज है। इसके दो माॅडल पेश किये गए हैं, छोटा पाॅकेट माॅडल और दूसरा रेग्युलर माॅडल विथ फुल ग्रिप।


ये है खासियत

कैलिबर .32

शूटिंग रेंज 60 मीटर

कुल लंबाई 120.5 मिमी

बैरल की लंबाई 76.2 मिमी

वजन 670 ग्राम


पुरानी वेब्ले रिवाल्वर से काफी कम है कीमत

मेक इन इंडिया 'सी’ सिरीज 'वेब्ले’ रिवाल्वर की कीमत पुरानी वेब्ले के आधे से भी कम है। वेब्ले की पुरानी रिवाल्वर की कीमत 3.5 लाख रुपये है। इसके उलट नई वेब्ले की कीमत इसकी आधे से भी कम 1.38 लाख रुपये (जीएसटी अलग से) रखी गई है। यह बेहद अत्याधुनिक और खूबसूरत है। इसका छोटा पाॅकेट माॅडल है जबकि रेग्युलर माॅडल फुल ग्रिप के साथ है।


बुकिंग के 45 से 60 दिन बाद डिलिवरी

नए वेरिएंट की बुकिंग शुरू हो चुकी है। और निर्माता का दावा है कि लांच के समय ही इसकी बुकिंग 500 लोगों ने करा ली है। बुकिंग के 45 से 60 दिन बाद इसकी डिलिवरी दी जाएगी। इसमें भी महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। कंपनी अभी एक साल में सिर्फ 2400 रिवाल्वर ही बनाएगी। आने वाले समय में पिस्टल और एयरगन भी बनेगी।


भारतीय कंपनी के साथ हुआ है करार

विश्व प्रसिद्घ शस्त्र निर्माता कंपनी 'वेब्ले स्काॅट’ ने भारतीय बाजार में कानपुर के रिकी स्याल और मनिंदर स्याल की कंपनी स्याल मैन्युफैक्चर्स के साथ कदम रखा है। इसमें वेब्ले की हिस्सेदारी 49 जबकि स्याल ग्रुप के पास 51 फीसदी का मालिकाना है। स्याल मैन्युफैचर्स ने मीडिया को बताया है कि वेब्ले बनाने वाली संडीला की पहली इकाई है। सिर्फ रिसर्च एंड टेक्लोलाॅजी ट्रांसफर वेब्ले की है। इसे बनाने वाली पूरी टीम भारतीय है, जिसे एक साल का प्रशिक्षण दिया गया है।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned