जब भूमि कब्जा की शिकायतें उमड़ पड़ी तो मंडलायुक्त के तेवर हुए गर्म, उन्होंने फिर दिए ऐसे आदेश कि.....

समाधान दिवस में सार्वजनिक भूमि पर कब्जे की शिकायतें जब अधिक आयी तो सर्द मौसम के बीच मंडलायुक्त के तेवर गर्म हो गए।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 18 Dec 2018, 11:01 PM IST

कानपुर देहात-मैथा तहसील में जिला स्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस में सार्वजनिक भूमि पर कब्जे की शिकायतें जब अधिक आयी तो सर्द मौसम के बीच मंडलायुक्त के तेवर गर्म हो गए। उन्होंने सरकारी व गैर सरकारी भूमि पर कब्जे की जानकारी भी की। हालांकि भूमि कब्जों की अधिकांश शिकायतों पर उन्होंने भूमाफियाओं व खनन माफियाओं को चिह्नित कर गैंगस्टर की कार्यवाही करने के लिए कहा। इस बीच धान की कम खरीद पर कारण पूंछते हुये नाराजगी जताई।

 

कानपुर देहात की मैथा तहसील में मंडलायुक्त सुभाष चंद्र शर्मा व आइजी आलोक सिंह की मौजूदगी में आज शिकायतें सुनी गईं। इस बीच कुल 118 शिकायतें आयीं, जिसमें 5 का मौके पर निस्तारण हुआ। कब्जे व राजस्व से संबंधित 69 शिकायतें रहीं। सुनवर्षा गांव के राकेश कुमार ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय तथा पंचायत भवन में गांव के रामसेवक व प्रवीण कुमार वर्ष 2010 में कब्जा किए हैं। रसोई तथा शौचालय का निर्माण भी करा लिया है। विद्यालय की भूमि गाटा संख्या 237 में रकबा 0.051 हेक्टेयर तथा गाटा संख्या 238 में रकबा 0.091 हेक्टेयर व ग्राम समाज की भूमि गाटा संख्या 450 में दीवार बनाकर कब्जा कर लिया।

 

सार्वजनिक भूमि पर कब्जे की शिकायत पर मंडलायुक्त का पारा चढ़ गया। उन्होंने डीएम राकेश कुमार सिंह व पुलिस कप्तान राधेश्याम को निर्देशित किया कि प्रकरण में भू माफिया की कार्रवाई करें। इसके साथ ही जिले में अन्य भू माफिया व खनन माफिया चिह्नित कर गैंगस्टर की कार्यवाही की जाए। इस पर एसपी ने सीओ बैजनाथ व एसडीएम रामशिरोमणि को सुनवर्षा गांव के स्कूल व पंचायत भवन को कब्जा मुक्त कराने का निर्देश दिया।

 

काशीराम निवादा की नीलू तथा तथा गारब की पार्वती ने प्रधानमंत्री आवास की मांग की। इस पर बीडीओ महेंद्र प्रसाद शुक्ला को कार्रवाई को कहा गया। बैरी दरियाव कि प्रवीण त्रिपाठी ने मेड तोड़ने की शिकायत की। इस पर तहसीलदार राम शंकर गुप्ता व कोतवाल चंद्र शेखर द्विवेदी को जांच दी गई। समीक्षा में कम धान क्रय पर खाद्य एवं विपणन अधिकारी शशि श्रीवास्तव की क्लास लगाई। यहां प्रभारी डीएफओ संजय अवस्थी, डीडीओ अभिराम त्रिवेदी, सीएमओ डा. हीरा सिंह, सूचना अधिकारी वीरेंद्र पांडेय, चिकित्सा अधिकारी डॉ सिद्धार्थ पाठक आदि रहे।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned