थानेदार ने नहीं की सुनवाई तो रेलवे ट्रैक पर बैठ गई ‘लज्जोबाई’

Vinod Nigam

Updated: 11 Oct 2019, 04:34:09 PM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। कल्याणपुर थानाक्षेत्र निवासी लज्जोबाई के पति और ससुरालवालों ने दहेज के लिए आएदिन पीटते थे। गुरूवार को सभी ने मिलकर पीड़िता को घर से निकाल दिया। वह भागकर थाने पहुंची औ तहरीर देकर पति समेत परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ मुकदमा लिखने की फरियाद थानेदार से की। लेकिन उसकी सुनवाई करने के बजाए डांट-डपक कर भगा दिया गया। महिला थाने से निकली रेलवे ट्रैक पर बैठ गई। ये देख पुलिसवालों के हाथ-पांव फूल गए। किसी तरह से उसे वहां से उठाया और कार्रवाई का आश्वासन दिया।

मुझे ही थाने से भगा दिया
पीड़िता ने बताया कि वह पहले भी ससुरालवालों के खिलाफ शिकायत लेकर थाने पहुंची। पुलिस कार्रवाई के बजाए पति को बुलाकर समझौता करा देती। गुरूवार की सुबह पति ने मुझे पहले पीटा। फिर ससुरालवालों ने मायके से दहेज लाने को कहा। जब मैंने इंकार कर दिया तो उन्होंने जबरन मुझे घर से बाहर कर दिया। ससुरालवालों को सजा दिलाने के लिए थाने गई, लेकिन थानेदार ने कार्रवाई के बजाए मुझे थाने से भगा दिया।

थाने के सामनें ट्रैक पर बैठी
पुलिस की कार्यप्रणाली से आहत होकर महिला थाने के सामनें से निकली रेलवे लाइन के ट्रैक पर बैठ गई। इसबीच फर्रूखाबाद की तरफ से ट्रेन के आने की आहट से पुलिसकर्मी सहम गए। आनन-फानन में महिला पुलिसकर्मियों के साथ मौके पर गए और जबरन महिला को ट्रैक से बाहर किया। महिला और पुलिस के बीच हाईड्रामा करीब आधे घंटे तक चलता रहा।

तब मानी महिला
इसबीच रेलवे ट्रैक के किनारे महिला शोर मचाने के साथ रोने लगी। स्थानीय लोगों का जमावाड़ा हो गया। लोग मोबाइल के जरिए वीडियो बनाने लगे। ये देख पुलिसवाले सहम गए और लज्जो को थाने के अंदर ले गए। मामले पर कल्याणपुर इंस्पेक्टर ने बताया कि महिला की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस जांच कर रही है। दोषी पाए जाने पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned