कॉल सेंटर में नौकरी दिलाने के बहाने युवती को कमरे में बंद कर लूटी इज्जत

कॉल सेंटर में नौकरी दिलाने के बहाने युवती को कमरे में बंद कर लूटी इज्जत

Alok Pandey | Publish: Aug, 16 2019 12:25:49 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

एसएससी की तैयारी कर रही थी पीडि़त युवती को दिया झांसा
कॉल सेंटर संचालक से मिलवाने के बहाने होटल ले गया

कानपुर। मौरंग गिट्टी कारोबारी ने नौकरी दिलाने के बहाने युवती को होटल के कमरे में बुलाया और फिर अपनी हवस पूरी की। पीडि़त युवती ने पुलिस को पूरा मामला बताया। जिसके आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मामला विजयनगर के पास एक होटल का है। आरोपी कल्याणपुर केशवपुरम निवासी मौरंग गिïट्टी कारोबारी है।

एसएससी की तैयारी कर रही थी पीडि़ता
प्रदेश के महोबा जनपद की निवासी २२ वर्षीय युवती काकादेव में छपेड़ा पुलिया इलाके में किराए पर कमरा लेकर रहती थी। एसएससी की तैयारी कर रही युवती की आर्थिक स्थिति कुछ सही नहीं थी, इसलिए वह अपने खर्चे पूरे करने के लिए नौकरी करना चाहती थी। आरोपी मौरंग-गिट्टी कारोबारी हरीश चंद्र पांडेय ने युवती को कॉल सेंटर में नौकरी दिलाने का झांसा देकर कारोबारी होटल में ले गया।

वाट्सएप के जरिए होती थी बातचीत
युवती की मुलाकात कुछ साल पहले उसकी कल्याणपुर केशवपुरम निवासी मौरंग गिïट्टी कारोबारी हरीश चंद्र पांडेय से उरई में हुई थी। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत और वाट्सएप पर चैटिंग होती थी। युवती का आरोप है कि हरीश चंद्र ने उसे कॉल सेंटर में नौकरी लगवाने का झांसा दिया था। हरीश ने कॉल सेंटर संचालक से मुलाकात कराने के बहाने फोन करके विजय नगर चौराहे बुलाया। यहां से वह अपनी कार से उसे होटल में ले गए। हरीश ने नशीली कोल्डड्रिंक पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। किसी तरह होश आने पर वह फजलगंज थाने पहुंची और पुलिस को आपबीती बताई। थाना प्रभारी फजलगंज अनुराग मिश्र ने बताया कि पीडि़ता की तहरीर पर आरोपित कारोबारी को गिरफ्तार किया गया है। युवती को मेडिकल के लिए भेजा गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned