सौ से कम आबादी वाले गांवो की तो निकल पडी लेकिन......

सौ से कम आबादी वाले गांवो की तो निकल पडी लेकिन......
Village

Santoshi Das | Publish: Apr, 27 2017 12:51:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

.शासन द्वारा दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत विद्युतीकरण योजना मे पहले 300 की आबादी वाले गांवो को शामिल किया था

 कानपुर देहात.शासन द्वारा दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत विद्युतीकरण योजना मे पहले 300 की आबादी वाले गांवो को शामिल किया था| जहाँ विद्युतीकरण किया जाना सुनिश्चित था| जिससे कम आबादी वाले विद्युत विहीन गांवों मे निराशा छा गयी थी, लेकिन अब सौ से कम आबादी वाले गांवो को भी सम्मिलित किया गया है| जिसके लिये कार्यदायी संस्था ने सर्वे
करा लिया है, और पहले 28 गांवो मे काम शुरू कराने का आश्वासन दे दिया है| विद्युतीकरण योजना मे जिले के 2052 गांवो का चयन किया गया था| निजी एजेंसी के माध्यम से कराए गये विद्युतीकरण मे तीन सौ की आबादी वाले गांवों को शामिल किया गया था| अब तक हुये विद्युतीकरण मे 147 गांव रोशन हो चुके है| जबकि 433 गांवो मे कुछ खामियां होने के कारण विद्युत सुरक्षा निदेशालय की अनापत्ति रोडा बनी है| कम आबादी वाले गांवो को विद्युतीकरण योजना से बाहर रखा गया था| प्रदेश की भाजपा सरकार की प्राथमिकता हर गांव मे बिजली पहुंचाना है| इसको लेकर दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना मे बदलाव कर सौ से कम आबादी
वाले गांवों मे भी विद्युतीकरण का फैसला लिया गया है| कम आबादी वाले गांवों मे कार्यदायी संस्था अशोका बिल्ड कान विद्युतीकरण कराएगी| विधुत विभाग ने 163 गांव ऊर्जीकृत करने का लक्ष्य दिया है| कार्यदायी संस्था ने 20 फरवरी से अप्रैल के प्रथम सप्ताह तक कम आबादी वाले गांवों का सर्वे कराया| इसमें पहले चरण मे 28 गांवों को विद्युतीकरण के लिये चिन्हित किया है|

स्थितियां कुछ और बयां कर रही

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना मे 2052 गांव चयनित किये गये है| कार्यदायी संस्था द्वारा काम शुरू होने के बाद 147 गांव को ऊर्जीकृत कर दिया गया है| जहाँ ग्रामीणों मे खुशी की लहर दौड गयी| है वही 433 गांव मे विद्युत सुरक्षा निदेशालय द्वारा अनापत्ति से काम अधूरा पडा हुआ, ऐसे गांव मे ग्रामीणों मे निराशा छा गयी है| लेकिन अब 100 से कम आबादी वाले 163 और गांव को सम्मिलित किया गया है |जिसमें से प्रथम चरण मे 28 गांव को चिन्हित किया गया है| जहाँ कार्य शुरू कराया जायेगा| कार्यदायी संस्था के सीनियर इंजीनियर मोहित पांडेय ने बताया कि सर्वे का काम पूरा कर लिया गया है और रिपोर्ट विधुत विभाग व कम्पनी के अफसरों को भेजी गयी है| जल्द विद्युतीकरण कार्य शुरू होने की उम्मीद है| वहीं मुख्य अभियंता हरीप्रकाश ने बताया कि सौ से कम आबादी वाले गांवों के विद्युतीकरण का काम निजी एजेंसी को सौंपा गया है|
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned