इस युवक को नही था पुलिस का खौफ, दरोगा बनकर करता था ऐसा काम, जानकर आप भी दंग रह जाएंगे

Arvind Kumar Verma

Updated: 09 Jul 2019, 10:03:20 PM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-वर्तमान में शातिरों को पुलिस का कोई भी खौफ नही रह गया है। जो अब खाकी का गलत इस्तेमाल कर फर्जी पुलिस अफसर बनकर पुलिस महकमे को बदनाम करने में जुटे हैं, लेकिन जिले की पुलिस ने शातिर को दबोचकर उसका फर्जी नकाब उतारकर भंडाफोड़ कर दिया। दरअसल कानपुर देहात पुलिस ने एक फ़र्ज़ी दरोगा को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि एक युवक फ़र्ज़ी चौकी इंचार्ज बनकर काफी समय से ट्रक मालिकों को फोन कर उनके ट्रक से एक्सीडेंट होने की बात कहकर उन्हें भयभीत करता था और मामला दबाने के लिए उनसे अवैध पैसों की वसूली किया करता था। इस मामले की जानकारी पुलिस को तब हुई, जब एक ट्रक मालिक ने पुलिस थाने में सूचना देकर एक्सीडेंट होने की जानकारी मांगी। तभी पुलिस ने फोन कॉल को फ़र्ज़ी समझकर मामले की जांच की तो पता चला कि ये एक शातिर अपराधी है, जो फ़र्ज़ी चौकी इंचार्ज बन ट्रक मालिको को फोन पर उनसे अवैध वसूली करता है। हालांकि अभी कुछ दिनों पूर्व जिले के पुलिस कप्तान ने एक फर्जी आईपीएस का भंडाफोड़ कर जेल भेजा था।

 

मामले का खुलासा करते हुए एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि एक युवक जिले की अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र की लालपुर चौकी इंचार्ज बनकर ट्रक मालिको को फ़ोन कर उनसे ट्रक से एक्सीडेंट होने की बात कहकर उन्हें भयभीत करता है और मामले को दबाने के नाम पर वह अपने अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने की बात करता था और इस तरह उनसे रुपयों की अवैध वसूली करता था। इसकी जानकारी तब हुई, जब एक ट्रक मालिक ने इस घटना की जानकारी दी तो मामले की जानकारी वरिष्ठ अफसरों को दी गयी। मामले की तहकीकात करने पर पूरा मामला खुलकर सामने आ गया। इसके ऊपर पहले से ही कई मामले दर्ज हैं। मो. नसीम नाम का ये बड़ा ही शातिर अपराधी है, जो चौकी इंचार्ज बनकर लोगों से वसूली कर रहा था। फिलहाल जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned