scriptकरौली के 30 फीसदी लोगों को 1 जुलाई से नहीं मिलेगा राशन, जानें बड़ी वजह | 30 percent of the people of Karauli will not get ration from July 1, know the big reason | Patrika News
करौली

करौली के 30 फीसदी लोगों को 1 जुलाई से नहीं मिलेगा राशन, जानें बड़ी वजह

Food Security Scheme : खाद्य सुरक्षा योजना के तहत जिले में चल रही ई-केवाईसी कराने की प्रक्रिया के तहत अभी तक करीब 30 फीसदी लाभार्थियों ने बायोमैट्रिक सत्यापन ही नहीं कराया है। जबकि ई-केवाइसी कराने में महज दो दिन शेष हैं।

करौलीJun 29, 2024 / 05:28 pm

Omprakash Dhaka

Logistics Department
Food Security Scheme : खाद्य सुरक्षा योजना के तहत जिले में चल रही ई-केवाईसी कराने की प्रक्रिया के तहत अभी तक करीब 30 फीसदी लाभार्थियों ने बायोमैट्रिक सत्यापन ही नहीं कराया है। जबकि ई-केवाइसी कराने में महज दो दिन शेष हैं। ऐसे में यदि लाभार्थियों ने 30 जून तक ई-केवाईसी नहीं कराई तो उन्हें खाद्य सुरक्षा योजना के लाभ से वंचित रहना पड़ सकता है।
रसद विभाग सूत्रों के अनुसार खाद्य सुरक्षा योजना में जुड़े परिवारों के सभी सदस्यों की राशन डीलर के यहां ई-केवाईसी की प्रक्रिया पिछले दिनों से चल रही है। इसके तहत संबंधित लाभार्थी परिवार के सभी सदस्यों को पॉश मशीन से बायोमैट्रिक सत्यापन किया जा रहा है।

योजना में 2 लाख से अधिक परिवार जुड़े

जिले में खाद्य सुरक्षा योजना के तहत कुल 2 लाख 9 हजार 558 परिवार जुड़े हुए हैं। इन परिवारों में कुल 9 लाख 42 हजार 471 यूनिटस (सदस्य) हैं।
रसद विभाग सूत्रों के अनुसार इन 9 लाख 42 हजार 471 यूनिट्स में से एक दिन पहले 6 लाख 57 हजार 354 यूनिट्स की ई-केवाईसी बायोमैट्रिक सत्यापन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इस प्रकार जिले में अब तक 69.75 फीसदी लोगों की ई-केवाईसी हो चुकी है, जबकि शेष रहे परिवारों को 30 जून तक ई-केवाईसी करानी है।

ग्रामीण में हिण्डौन, शहरी में करौली आगे

योजना के तहत ई-केवाईसी कराने के मामले में ब्लॉकवार आंकड़ों पर नजर डालें तो हिण्डौन ग्रामीण क्षेत्र आगे है। हिण्डौन ग्रामीण में अब तक 72.83 फीसदी लोग ई-केवाईसी करा चुके हैं, जबकि शहर क्षेत्र के आंकड़ों पर नजर डालें तो करौली क्षेत्र अव्वल है। यहां अब तक 76.7 फीसदी लोगों ने ई-केवाईसी कराई है।

ग्रामीण: ब्लॉकवार केवाईसी की स्थिति

जिले के ग्रामीण क्षेत्र में ब्लॉकवार केवाईसी के आंकड़ों पर नजर डालें तो जिले के मण्डरायल ब्लॉक में अभी तक महज 63.90 फीसदी लोगों ने ही योजना के तहत केवाईसी कराई है। जबकि हिण्डौन ग्रामीण में 72.83, करौली ग्रामीण में 67.56 प्रतिशत, नादौती ग्रामीण में 65.50 फीसदी, सपोटरा ग्रामीण में 69.07 फीसदी, श्रीमहावीरजी में 70.99 फीसदी तथा टोडाभीम ग्रामीण क्षेत्र में 69.64 प्रतिशत लोगों का बायोमैट्रिक सत्यापन हो चुका है।

शहरी: ब्लॉकवार केवाईसी

इसी प्रकार ब्लॉकवार शहरी क्षेत्र में केवाईसी की स्थिति देखें तो हिण्डौन शहरी क्षेत्र में 75.28 फीसदी लोग केवाईसी बायोमैट्रिक सत्यापन करा चुके हैं। इसी प्रकार करौली शहरी क्षेत्र में 76.97 प्रतिशत तथा टोडाभीम शहरी क्षेत्रमें 75.42 फीसदी लोगों ने केवाईसी कराई है।

कहां कितनी यूनिट्स

ब्लॉक ग्रामीण – कुल यूनिट्स – केवाईसी
हिण्डौन – 152200 – 110841

करौली – 183274 – 123818
मण्डरायल – 71721 – 45832

नादौती – 100547 – 65858
सपोटरा – 111138 – 76766
श्रीमहावीरजी – 71829 – 50988
टोडाभीम – 127325 – 88674

ब्लॉक शहरी – कुल यूनिट्स – केवाईसी
हिण्डौन – 58673 – 44167

करौली – 52212 – 40189
टोडाभीम – 13552 – 10221

इनका कहना है ……….

खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थियों की ई-केवाईसी राशन डीलरों के यहां की जा रही है। 30 जून तक लाभार्थी परिवार केवाईसी करा सकते हैं।
– बृजेश गुप्ता, जिला रसद अधिकारी, करौली

खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थियों की ई-केवाईसी का कार्य चल रहा है। लाभार्थी परिवार के सभी सदस्यों को राशन डीलर के यहां पॉश मशीन से बायोमेट्रिक सत्यापन करना जरुरी है। इसके लिए लाभार्थी परिवार के सदस्य 30 जून तक केवाईसी करा सकते हैं।

Hindi News/ Karauli / करौली के 30 फीसदी लोगों को 1 जुलाई से नहीं मिलेगा राशन, जानें बड़ी वजह

ट्रेंडिंग वीडियो