बिना मास्क घूमते युवक का काटा चालान, तो हिमायत में आए पार्षद ने नगरपरिषद कर्मचारी से कर दी मारपीट

 

A young man who was walking without a mask was bitten, then the councilor who came in support assaulted the municipal councilor

-महामारी एक्ट में प्राथमिकी दर्ज, आरोपी पार्षद सहित दो जनेे गिरफ्तार

By: Anil dattatrey

Updated: 28 May 2021, 10:23 AM IST


हिण्डौनसिटी. शहर के रोडवेज बस स्टेण्ड़ के पास बिना मास्क लगाए घूम रहे एक युवक का चालान काटना नगरपरिषद के सफाई कर्मचारी को भारी पड़ गया। कर्मचारी के साथ आरोपी युवक व एक वार्ड पार्षद ने मारपीट कर दी। पीडि़त सफाई कर्मचारी की शिकायत पर कोतवाली थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर देर रात आरोपी पार्षद व साथी युवक को गिरफ्तार लिया है।

थानाप्रभारी गिर्राज प्रसाद ने बताया कि कोविड-19 की गाइडलाइन की पालना के लिए नगरपरिषद का एक दस्ता कनिष्ठ अभियंता रामकिशोर मीणा के नेतृत्व में रोड़वेज बस स्टेण्ड के समीप रैन बसेरा के सामने बिना मास्क व सोशल डिस्टेसिंग का उल्लंघन करने वाले लोगों के चालान काट रहा था। इस दौरान बिना मास्क लगाए वहां से निकल रहे हिण्डौन के काजीपाडा निवासी मारुफ को रोक महामारी एक्ट के तहत 100 रुपए का चालान काट दिया गया।

इस पर मारुफ ने मोबाइल पर फोन कर वार्ड 26 के पार्षद भायलापुरा निवासी राहुल हरसाना उर्फ केशू को मौके पर बुला लिया। पार्षद ने चालान काटने पर नाराजगी जताई। बहस के दौरान पार्षद राहुल हरसाना व मारुफ ने नगरपरिषद दस्ते में शामिल सफाई कर्मचारी भोपुर निवासी बलराम के साथ मारपीट कर दी। सफाई कर्मी से मारपीट की सूचना के बाद नगरपरिषद के कार्मिकों में रोष व्याप्त हो गया।


सूचना पर कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। जहां से आरोपी पार्षद व उसके साथी युवक को हिरासत में ले लिया गया। पीडित कर्मचारी ने जिला कलक्टर, एसपी को भी मेल के जरिए मामले की शिकायत की। पुलिस ने महामारी अधिनियम, राजकार्य में बाधा व एससी-एसटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली।

रात करीब आठ बजे पार्षद राहुल हरसाना व साथी युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर दिया। डीएसपी किशोरी लाल ने बताया कि नगरपरिषद सफाई कर्मचारी की शिकायत पर पार्षद व युवक के खिलाफ दोपहर में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। प्रथम दृष्टया अनुसंधान के बाद दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।


अधिकारी-कर्मचारियों से मारपीट की चौथी घटना-
कोरोना की दूसरी लहर में सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों से मारपीट की यह चौथी घटना है। जिससे सरकारी कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। इससे पहले ढिंढोरा गांव में शराब माफिया द्वारा तहसीलदार मनीराम खींचड़ व गिरदावर, पटवारी से मारपीट, डैम्परोड़ पर नगरपरिषद के एनयूएलएम प्रभारी सतेन्द्र पाराशर व अन्य से मारपीट व अभद्रता, हाईस्कूल के सामने नगरपरिषद कर्मचारियों से मारपीट की घटना हो चुकी हैं।

कोरोना कर्मवीरों का सम्मान नहीं तो अपमान तो मत करो-
शहर ही नहीं बल्कि पूरा देश कोरोना की मार से जूझ रहा है, नगरपरिषद से लेकर पुलिस, प्रशासन और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग समेत विभिन्न सरकारी महकमों के अधिकारी व कर्मचारी स्वयं की परवाह किए बिना लोगों को कोविड़ संक्रमण से बचाने की मुहिम में जुटे हुए हैं। लेकिन इन कोरोना कर्मवीरों को सम्मान देना तो दूर, कुछ लोग मारपीट करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned