3 हजार की रिश्वत लेते हैडकांस्टेबल को एसीबी ने दबोचा

3 हजार की रिश्वत लेते हैडकांस्टेबल को एसीबी ने दबोचा

करौली जिले के सपोटरा कस्बे में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार को सपोटरा थाने के एक हैडकांस्टेबल को तीन हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। पकड़ में आया हैडकांस्टेबल बच्चूसिंह नाई भरतपुर जिले में पास्ता का निवासी है और फिलहाल साकेत कॉलोनी मोहन नगर हिन्डौनसिटी में रहता है।
हैडकांस्टेबल द्वारा दुघर्टना प्रकरण मे कार्यवाही करने की एवज मेें 7 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जा रही है।

By: Surendra

Published: 18 Dec 2020, 07:53 PM IST

3 हजार की रिश्वत लेते हैडकांस्टेबल को एसीबी ने दबोचा

करौली जिले के सपोटरा कस्बे में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार को दोपहर में सपोटरा थाने के एक हैडकांस्टेबल को तीन हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।
घूस लेते पकड़ में आया हैडकांस्टेबल बच्चूसिंह नाई भरतपुर जिले में पास्ता का निवासी है और फिलहाल साकेत कॉलोनी मोहन नगर हिन्डौनसिटी में रहता है।
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के पुलिस उपाधीक्षक अमरसिंह मीना ने बताया कि जोडली गांव के देशराज मीणा ने एसीबी को शिकायत दर्ज कराई थी कि हैडकांस्टेबल द्वारा दुघर्टना प्रकरण मे कार्यवाही करने की एवज मेें 7 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जा रही है। इस पर परिवादी देशराज के द्वारा हैडकास्टेबल को 15 दिसम्बर को सत्यापन के समय 2 हजार रुपए की राशि दे दी गई थी। शेष 5 हजार की राशि और देने थी। इस पर शुक्रवार को परिवादी देशराज द्वारा हैडकांस्टेबल बच्चूसिंह से शेष 5 हजार की राशि में से 3 हजार रुपए की राशि देने पर सहमति बनी थी। यह राशि हैड कांस्टेबल के आवास पर परिवादी देशराज ने जाकर दी। परिवादी के घूस देकर बाहर आने के बाद एसीबी टीम ने हैडकांस्टेबल को घूस की राशि एक कागज में लपेटकर टेबिल के नीचे रखते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया।

मुझे गलत फंसाया है
एसीबी की कार्रवाई के दौरान मीडिया के सामने बच्चूसिंह बार-बार यह ही दोहराता रहा कि उसको गलत फंसाया गया है जबकि उसने रिश्वत नहीं ली है। बच्चूसिंह के कहने को अनसुना करते हुए एसीबी टीम अपनी कार्रवाई में लगी रही।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned