एडीएम बोले: अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्थाएं बनाएं बेहतर

ADM said: make hospital's medical arrangements better

 

सघन निरीक्षण कर आइसोलेशन वार्ड से लेकर देखाऑक्सीजन को प्लांट

बैठक के बाद अतिरिक्त जिला कलक्टर ने किया चिकित्सालय का निरीक्षण

By: Anil dattatrey

Published: 03 May 2021, 10:35 AM IST

Karauli, Karauli, Rajasthan, India

हिण्डौनसिटी.कोरोना संक्रमण के दौर में चिकित्सा सेवाओं को और सुद्रढ़ करने के लिए रविवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर सुदर्शनसिंह तोमर ने राजकीय चिकित्सालय में चिकित्सा व्यवस्था व कोविड प्रबंंधन से जुड़े अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में चर्चा के बाद एडीएम ने चिकित्सालय को सघन निरीक्षण कर आइसोलेशन वार्ड से लेकर ऑक्सीजन प्लांट देखा।

साथ ही उन्होंने चिकित्सा सेवाओं को मौजूद परिस्थितियों के सामना करने लिए तैयार रखने की हिदायत दी।
कोरोना के बढ़ते संक्रमण मेंं लचर होती व्यवस्थाओं को लेकर राजस्थान पत्रिका के में समाचार प्रकाशित होने के बाद दोपहर में एडीएम व एसडीएम सुरेश कुमार यादव राजकीय चिकित्सालय पहुंचे। जहां उन्होंने कोविड चिकित्सा व व्यवस्था से जुडे उपखण्ड स्तरीय अधिकरियों को भी बुलवा लिया गया।

करीब दो घंटे तक चली बैठक में एडीएम ने प्रमुख चिकित्साधिकारी डॉ. नमोनारायण मीणा, कोविड केयर सेंटर प्रभारी डॉ. आशीष शर्मा से कोविड वार्ड में चिकित्सा सुविधा और संसाधनों की उपलब्धता में बारे में पूछताछ की। साथ ही वार्डों में चिह्नित पलंगों पर पाइप लाइन से सिलेण्डर से ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए खपत और उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। इस दौरान ऑक्सीजन प्लांट में निर्वाध विद्युतापूर्ति देने के निर्देश दिए।

बैठक में तहसीलदार मनीराम खींचड़, नगर परिषद आयुक्त कीर्ति कुमारी कुमावत, नई मंडी थाना प्रभारी दिनेश मीणा, ईआई सुनीता मीणा, परिवहन निरीक्षक अविनाश चौहान, श्रीमहावीरजी के कार्यवाहक विकास अधिकारही ज्ञानसिंह, बीपीएम प्रभाकार जिंदल, सफाई निरीक्षक पूजा बंशीवाल मौजूद रही।

आइसोलेशन वार्ड की देखी व्यवस्थाएं, रोगियों से पूछा हाल-
बैठक के बाद एडीएम कोविड केयर सेंटर के आइसोलेशन वार्ड में पहुंचे। जहां उन्होंने आईसीयूवार्ड में रोगियों को देखा तथा पीएमओ व वार्ड प्रभारी से उपकरणों के स्थिति के बारे में पूछताछ की। बाद में आइसोलेशन वार्ड में रोगियों व उनके परिजनों से ऑक्सीजन व अन्य चिकित्सा सुविधाओं के बारे में बात की। साथ ही कुछ रोगियों से बात कर तबीयत का हाल जाना। एडीएम ने 100 पलंग क्षमता के कोविड वार्ड के सभी वार्डों में पहुंच को स्थिति देखी। इस दौरान कुछ वार्डों में चद्दर रहित पलंगों को चद्दर बिछा कर सुसज्जित करने के निर्देश दिए।

अस्थाई पुलिस चौकी की स्थापित-
कोरोना संक्रमण के रोगियों की बढ़ती आवक को देखते हुए चिकित्सालय में अस्थाई पुलिस चौकी स्थापित की गई है। पीएमओ द्वारा मांग रखने पर एडीएम ने एक हैड कांस्टेबल व 8 जवान तैनात करवा दिए। पुलिस जवान द्वारा चिकित्सालय परिसर में दिन व रात की पारी में 4-4 जवान तैनात रहेंगे।

सफाईकर्मी पीछे हटे, अब देख रहे दूसरी व्यवस्था-
कोविड संक्रमित के शव को पॉली पैक करने के लिए नगर परिषद से बुलवाए सफाई कर्मचारी दूसरे दिन ही पीछे हट गए। एडीएम ने सफाई ठेकेदार के प्रतिनिधि से दूसरे सफाई कर्मचारी उपलब्ध कराने की बात कही, लेकिन कोई सामने नहीं आया। नगर परिषद के उपसभापति लेखेंद्र चौधरी से भी संक्रमित की मृत्यु होने पर शव के पॉली पैकिंग की व्यवस्था को लेकर चर्चा की गई। उल्लेखनीय है कि शनिवार को कोविड वार्ड में एक संक्रमित का शव पॉलीपैकिंग होने के इंतजार में 6 घंटे रखा रहा। इधर नगर परिषद आयुक्त कीर्ति कुमारी ने गाइड लाइन के मुताबिक संक्रमित को शव को जिला सीमा में स्थित निवास स्थान तक पहुंचाने की बात कही।

बीडीओ को फोन पर डपटा-
राजकीय चिकित्सालय में हुई बैठक में पंचायत समिति के विकास अधिकारी के नहीं आने पर एडीएम ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने बैठक से फोन लगा बीडीओ राजेंद्र कुमार को डपटा। विकास अधिकारी ने बीमारी होने पर आराम करने की बात कही तो एडीएम ने मेडिकल कराने चेतावनी दे दी। कहा कि वे कोरोना की आपात स्थिति में दूसरे जिला स्थित आवास पर चले गए हैं।

एक रोगी पर खप रहा डेढ़ सिलेण्डर-
बैठक में ऑक्सीजन प्लांट सुपरवाइजर ने बताया कि आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक रोगी पर 24 घंटे में डेढ सिलेण्डर ऑक्सीजन कर खपत हो रही है। ऑक्सीजन आपूर्ति को हाई फ्लो करने से खपत मात्रा और बढ़ जाती है। ऐेसे एडीएम ने पीएमओ को 48 दिन का ऑक्सीजन बैकअप रहते हुए डिमांग भेजने के निर्देेश दिए। ताकि अस्पताल में ऑक्सीजन की पर्याप्ता उपलब्धता बनी रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned