भाजपा के टिकट वितरण में रुपयों के लेनदेन का आरोप, उभरेे बगावत के सुर

Allegations of money transactions in BJP's ticket distribution, rebellion raised

-सामने तो किसी ने फोन पर चुनाव प्रभारी गोठवाल को सुनाई खरीखरी

 

By: Anil dattatrey

Published: 27 Nov 2020, 11:18 PM IST

हिण्डौनसिटी. स्थानीय निकाय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की ओर से शुक्रवार को जारी की गई टिकटों की सूची में रुपयों के लेनदेन का आरोप लगाते हुए कार्यकर्ताओं ने असंतोष जाहिर किया। दोपहर में चुनाव प्रभारी जितेन्द्र गोठवाल उपखंड कार्यालय में पार्टी प्रत्याशियों के सिम्बल लेकर पहुंचे तो वहां पहले से मौजूद असंतुष्ट कार्यकर्ताओं ने उनके खिलाफ नारेबाजी कर दी।

कार्यकर्ताओं ने सर्वे में अव्वल रखने से लेकर पैनल में नाम जोडऩे और टिकट वितरण तक की एवज में 5 लाख से 25 लाख रुपए तक लेने के आरोप भी लगाए। भाजयुमो के एक जिला पदाधिकारी ने तो चुनाव प्रभारी गोठवाल के मोबाइल पर फोन कर कांग्रेस के स्थानीय विधायक से मिलीभगत कर भाजपा के टिकटों के वितरण करने के आरोप भी लगा दिए।

पदाधिकारी ने तो भाजपा के कुछ स्थानीय नेताओं से मिलीभगत कर पार्टी के टिकटों को बेचने का आरोप भी लगाया। चुनाव प्रभारी गोठवाल और भाजयुमो पदाधिकारी के बीच फोन पर हुए इस वार्तालाप का ऑडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।

कई कद्दावर व समर्पित कार्यकर्ताओं के कटे टिकट-
कार्यकर्ताओं ने बताया कि भाजपा के चुनाव प्रभारी ने स्थानीय नेताओं से मिलीभगत कर कई कद्दावर व पार्टी के प्रति समर्पित कार्यकर्ताओं के टिकट काट दिए। इससे शहर भाजपा के कार्यकर्ताओं में असंतोष है। लंबे समय तक पार्टी के जिला पदाधिकारी रहे एक कद्दावर नेता का वार्ड 12 से व भाजपा की बैठकों के लिए समय-समय पर अपना मैरिज होम मुफ्त में देने वाले समर्पित कार्यकर्ता का वार्ड 11 से ऐनवक्त पर टिकट काटना शहर में चर्चा की विषय बना रहा।

खिलाफत करने वालों पर करेंगे कार्रवाई-
भाजपा के चुनाव प्रभारी जितेन्द्र गोठवाल ने मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि सर्वे और पैनल के आधार पर लोकतांत्रिक तरीके से टिकट वितरण किया है। असंतुष्ट कार्यकर्ताओं को मनाने के प्रयास किए जाएंगे। अगर कोई भी कार्यकर्ता पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त पाया गया तो उसके खिलाफ पार्टी अनुशासनात्मक कार्यवाही करेगी। टिकट वितरण में रुपयों के लेनदेन के आरोपों पर गोठवाल ने कहा कि यह परंपरा कांग्रेस पार्टी की रही है। भाजपा में यह सब नहीं चलता।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned