10 माह बाद देखी बंद पड़े सोलर नलकूपों की सूरत


Appearance of solar tubewells closed after 10 months

-जांच करने पहुंचा नगरपरिषद का जांचदल

By: Anil dattatrey

Updated: 12 Jan 2021, 10:26 AM IST


हिण्डौनसिटी. सरकारी तंत्र की ढिलाई पर ‘नौ दिन चले अढ़ाई कोस’ वाली कहावत तो खूब सूनी होगी, लेकिन हिण्डौन शहरी क्षेत्र की नौ ढाणियों में बंद पड़े सोलर नलकूपों से तो जिला व उपखंड स्तर के अधिकारियों के निरीक्षण के 10 माह बाद भी एक बूंद पानी तक नहीं टपका। सोमवार को राजस्थान पत्रिका ने मामला फिर उजागर किया तो उपखंड प्रशासन में हलचल हुई। आनन-फानन में एसडीओ सुरेश यादव ने एक बार फिर जांच दल गठित कर मौका निरीक्षण के लिए भेज दिया।
जांच दल के प्रभारी व नगरपरिषद के सफाई निरीक्षक खलीक अहमद अपनी टीम के साथ वैद्यवाड़ा, धुत्तान की ढाणी, करसौली रोड़ पर बालाजी मंदिर के पास, गुलालन ढाणी, खिजूरवाडा, छज्जू की ढाणी, सोहनपाल का पुरा व हाडौली का पुरा में मौके पर पहुंचे। तथा बंद पड़े सोलर नलकूपों के बारे में मौका रिपोर्ट तैयार की। जांच दल को निरीक्षण के दौरान नौ ढाणियों में नलकूप बंद मिले। टीम ने ग्रामीणों के बयान भी दर्ज किए। इसके बाद देर शाम जांच रिपोर्ट एसडीओ के समक्ष पेश की गई।

पत्रिका की खबर का असर-
उल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका ने इस संबंध में सोमवार को ‘बंद पड़े सोलर नलकूप, ढाणियों में पेयजल संकट’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर प्रशासन का ध्यान आकर्षित किया। इसके बाद एसडीओ ने नगरपरिषद आयुक्त प्रेमराज मीणा को मामले की जांच कर तत्कान प्रभाव से रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए।

एडीएम के नेतृत्व में पूर्व में हो चुका निरीक्षण-
गौरतलब है कि बीते करीब एक साल से बंद पड़े सोलर नलकूपों के निरीक्षण के लिए 16 मार्च 2020 को तत्कालीन एडीएम सुदर्शन सिंह तोमर के नेतृत्व में एसडीओ सुरेश यादव, आयुक्त प्रेमराज मीणा समेत पांच सदस्यीय टीम मौके पर पहुंची थी। लेकिन 10 माह बीतने के बाद भी नलकूप चालू नहीं हो सके। ऐसे में फिर से जांच दल के निरीक्षण पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned