निर्यातक बनो उद्योग नीति से जुडने के लिए उद्यमियों को किया जागरुक

Be an exporter; Entrepreneurs made aware to join the industry policy

रीको औद्योगिक क्षेत्र में हुई बैठक

By: Anil dattatrey

Published: 06 Oct 2021, 11:54 PM IST

हिण्डौनसिटी. उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के 'निर्यातक बनो' मिशन के प्रति उद्यमियों को जागरुक करने के लिए बुधवार को रीको कार्यालय में जिला उद्योग एवं वाणिज्यक विभाग के महाप्रबंधक कमलेश कुमार मीना ने उद्यमियों की बैठक ली। जिसमें औद्योगिक नीति से जुडने पर जोर दिया।

रीको उद्योग मंडल के मीडिया प्रभारी एम इकबाल बबलू ने बताया कि महाप्रबंधक मीणा ने उद्यमियों को बताया कि सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। प्रदेश के सभी जिलों में जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय प्रोत्साहन समितियों का गठन किया गया है। कमेटी की बैठक में एक जिला एक उत्पाद के अन्तर्गत सेण्ड स्टोन का चयन किया है।

उन्होंने बताया कि संयुक्त निदेशक सीबी नवल ने भी पांच सितम्बर को रीको औद्योगिक क्षेत्र करौली के उद्यमियों के साथ बैठक लेकर एक्सपोर्ट इम्पोर्ट कोड जारी कराने की बरात कही थी। उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 20 औद्योगिक इकाईयों ने एक्सपोर्ट इम्पोर्ट कोड जारी करा निर्यातक बनने की इच्छा जाहिर की है। रीको उद्योग मंडल के अध्यक्ष शिव कुमार सिंघल ने बताया कि उद्यमी गुणवत्तापूर्ण उत्पादों का निर्माण कर अन्तराष्ट्रीय मानक को अपना कर निर्यातक बन सकते हैं। उद्योग एवं वाणिज्य विभाग की हैण्डहोल्डिंग सेवा का लाभ उठाकर आईईसी यानि इम्पोर्ट एक्सपोर्ट कोड जारी कराया जा सकता है।

बैठक में भगवती इंडस्ट्रीज, पीवीसी पाइप एवं गोमती एन्टरप्राइजेज, स्टोन आर्टिकल निर्यात के लिए दो आईईसी जारी किए गए। उल्लेखनीय है कि जिले से सेण्ड स्टोन, अनाज ग्रेडिंग, कृषि उपकरण, सिलिका, रेडीमेड कपड़ा, प्लास्टिक पाइप, स्लेट, क्रेशर गिट्टी निर्यातक योग्य उत्पाद हैं। इस अवसर पर रीको मीडिया प्रभारी एम इकबाल बबलू जिला उद्योग केंद्र अधिकारी अमृतलाल मीणा, सुरेंद्र गुप्ता, महामंत्री विनोद कुमार, महेश सिंघल आदि मौजूद रहे।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned