Video: मगरमच्छ ने 12 साल के बच्चे को बनाया शिकार, तीन घंटे बाद मिल सके अवशेष

जिले के करणपुर इलाके में बह रही चम्बल नदी में एक मगरमच्छ ने सोमवार दोपहर में 12 साल के बालक को अपना शिकार बना लिया। करणपुर थानान्तर्गत घूसई गांव के चम्बल घाट पर बालक पानी पीने के लिए गया था।

By: kamlesh

Published: 27 Jul 2020, 07:08 PM IST

करणपुर (करौली)। जिले के करणपुर इलाके में बह रही चम्बल नदी में एक मगरमच्छ ने सोमवार दोपहर में 12 साल के बालक को अपना शिकार बना लिया। करणपुर थानान्तर्गत घूसई गांव के चम्बल घाट पर बालक पानी पीने के लिए गया था। इसी दौरान मगरमच्छ बालक पर हमला करके उसे पानी में खींच ले गया। पुलिस ने बताया कि मृतक बालक पिंटू पुत्र रामसिंह बैरवा निवासी घूंसई (टोडा) है।

ग्रामीणों ने बताया कि पिंटू जंगल में बकरी चराने के दौरान प्यास लगने पर चम्बल नदी पर चला गया था। वह वहां पानी पीने के लिए किनारे पर पहुंचा ही था कि तभी एक मगरमच्छ ने उसको पकड़ लिया और घसीटकर नदी में ले गया।

आसपास मौजूद अन्य बच्चों ने शोर मचाया तो मौके पर ग्रामीण एकत्र हुए लेकिन तब तक मगरमच्छ पानी में गायब हो गया। सूचना मिलने पर करणपुर थानाधिकारी होशियार सिंह, सहित अन्य पुलिसकर्मी, सरपंच प्रतिनिधि रामकुमार मीणा, वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची।

ग्रामीणों की मदद से मगरमच्छ और बच्चे की तलाश की जाती रही। कुछ समय बाद मगरमच्छ दूसरे किनारे पर बालक का शिकार करता हुआ दिखा। ग्रामीणों ने शोर मचाकर, पत्थर फेंक और लाठी दिखाकर उसे भगाया। मौके पर बालक के शरीर के कुछ अवशेष मिले। पुलिस की सूचना पर चिकित्सक महेश मीणा ने मौके पर ही पोस्टमार्टम किया और फिर बालक के अवशेष परिजनों को सौंप दिए।

ग्रामीणों ने बताया कि पिंटू का परिवार काफी निर्धन है। पिता रामसिंह तथा परिवार के अन्य सदस्य मजदूरी करके मवेशी चराकर पेट भरते हैं। मृतक चौथी कक्षा में पढ़ता था। पिंटू के पांच भाई और एक बहन है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned