डॉ.महेश की मौत का मामला, तीसरे इनामी आरोपी को भी किया गिरफ्तार

डॉ.महेश मीणा की मौत का चर्चित मामला, तीसरे इनामी आरोपी को भी किया गिरफ्तार

दिल्ली हवाई अड्डे पर किया दस्तयाब, 5 हजार का था इनाम घोषित
ऋण हड़पकर आत्महत्या को उकसाने का आरोप

करौली। हिण्डौन चिकित्सालय में कार्यरत चिकित्सक महेश मीणा की एक वर्ष पहले हुई मौत के मामले में एक वर्ष से फरार चल रहे तीसरे इनामी आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी दशरथ सिंह गोलाडा निवासी जयपुर है। वह विदेश जाने की फिराक में था। मामले में दो आरोपी पहले गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

By: Surendra

Published: 22 Sep 2021, 09:19 PM IST

डॉ.महेश मीणा की मौत का चर्चित मामला

तीसरे इनामी आरोपी को भी किया गिरफ्तार

दिल्ली हवाई अड्डे पर किया दस्तयाब
5 हजार का था इनाम घोषित
ऋण हड़पकर आत्महत्या को उकसाने का आरोप

करौली। हिण्डौन चिकित्सालय में कार्यरत चिकित्सक महेश मीणा की एक वर्ष पहले हुई मौत के मामले में एक वर्ष से फरार चल रहे तीसरे इनामी आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी दशरथ सिंह गोलाडा निवासी चम्पापुरा कालवाड रोड जयपुर
है। वह विदेश जाने की फिराक में था। इस दौरान दिल्ली एयर पोर्ट के सुरक्षा अधिकारियों के सहयोग से उसे दस्तयाब किया गया। इस मामले में दो आरोपी पहले गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

गौरतलब है कि 1 अक्टूबर 2020 को हिण्डौन चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. महेश मीणा का शव गोठडा के कुण्डे के पास कार में मिला था। इसको लेकर मृतक महेश के भाई सुरेश चंद मीना निवासी बलदेवपुरा ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी।
प्राथमिकी में सुरेश ने बताया था कि मेरे भाई डॉ. महेश मीना को मेरी भुआ के लड़के डॉ. जितेन्द्र मीना निवासी गोठ (बामनवास), हाल चिकित्सक निम्स हॉस्पिटल जयपुर एवं दशरथ सिंह गोलाडा निवासी चम्पापुरा कालवाड रोड जयपुर ने मिल कर बैंक और फाइनेंस कम्पनियों से 55 लाख रुपए के ऋण दिलवाए। उन्होंने ऋण कागजातों पर महेश के साइन कराए और ऋण राशि को डॉ. जितेन्द्र एवं दशरथ जाट ने हड़प लिया। आरोपियों ने किस्त राशि भी जमा नहीं कराई। इस पर फाइनेंस कम्पनियों का लगातार दबाव भाई पर बढ़ रहा था। इससे महेश काफी परेशान था। प्राथमिकी में सुरेश ने आरोप लगाया कि महेश द्वारा रुपयों का अधिक तकादा करने पर आरोपियों ने उसकी हत्या करके शव को गाड़ी में डाल दिया। महेश हिण्डौन से देर रात को निकले थे और तड़के सड़क किनारे कार में शव मिला। डॉ. महेश के बांये हाथ में केनूला लगा हुआ था।


कई दिन चला था धरना

इस चर्चित मामले में मृतक डॉक्टर महेश मीणा की पत्नी और परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर कई दिन तक उपखण्ड मुख्यालय पर धरना दिया था। यह धरना क्षेत्रीय विधायक और पुलिस अधिकारियों के आश्वासन पर समाप्त हुआ था। तभी से पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी हुई थी। पुलिस ने अपने अनुसंधान के बाद इस मामले को हत्या के लिए उकसाने का मामला माना है। थानाधिकारी पीरसिंह ने बताया कि इस मामले में पहले दो आरोपी डॉ. जितेन्द्र निवासी गोठ थाना बामनवास हाल निवासी जयपुर जगतपुरा व देवेश जोशी निवासी अशोक बिहार कर्मचारी कॉलोनी अलवर को गिरफ्तार किया जा चुका है। अब तीसरे आरोपी दशरथ की गिरफ्तारी हुई है। दशरथ पर जिला पुलिस अधीक्षक की ओर से 5 हजार का इनाम घोषित किया हुआ था।

दुबई जाने की फिराक में था

पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने बताया कि विदेश भागने की आशंका के चलते जिले की पुलिस द्वारा प्रमुख आरोपियों की सूचना हवाई अड्डों पर देकर रखी जाती है। दशरथ के बारे में भी ये सूचना दी हुई थी। उसके दुबई जाने के लिए दिल्ली हवाई अड्डे पहुंचने पर सुरक्षाकर्मियों को उसके अपराधी होने पर संदेह हुआ और उसे दस्तयाब करके जिले की पुलिस को सूचना दी। इसके बाद थानाधिकारी वीर सिंह के नेतृत्व मेें गठित टीम ने आरोपी को दिल्ली हवाई अड्डे पर दस्तयाब करके यहां ले आए। जिसको पूछताछ और पहचान के बाद में यहां गिरफ्तार दर्शाया गया।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned