सूतली बम से धमाका कर रची फायरिंग की झूठी कहानी,

सूतली बम से धमाका कर रची फायरिंग की झूठी कहानी,

झूठे मुकदमे पर परिवादी व उसका साथी गिरफ्तार

करौली जिले में करणपुर थाना क्षेत्र में रंजिश निकालने के लिए फायरिंग की झूठी कहानी रचकर मुकदमा दर्ज कराने के मामले में पुलिस ने परिवादी व उसके साथी को गिरफ्तार करके अहसास कराया है कि झूठे मुकदमे दर्ज कराने रक क्या होता है। गिरफ्तार आरोपी ऋषिकेश मीना निवासी अरौरा व उसका साथी धनपाल मीना निवासी पांचौली है।

By: Surendra

Updated: 20 Apr 2021, 08:28 PM IST

Karauli, Karauli, Rajasthan, India

सूतली बम से धमाका कर रची फायरिंग की झूठी कहानी,

झूठे मुकदमे पर परिवादी व उसका साथी गिरफ्तार

करौली जिले में करणपुर थाना क्षेत्र में रंजिश निकालने के लिए फायरिंग की झूठी कहानी रचकर मुकदमा दर्ज कराने के मामले में पुलिस ने परिवादी व उसके साथी को गिरफ्तार करके अहसास कराया है कि झूठे मुकदमे दर्ज कराने रक क्या होता है।
गिरफ्तार आरोपी ऋषिकेश मीना निवासी अरौरा व उसका साथी धनपाल मीना निवासी पांचौली है। परिवादी ऋषिकेश ने 5 फरवरी को इस्तगासा के माध्यम से गांव के रामदयाल मास्टर, लालपत, महाराजसिंह, सरूप, हल्के मीना के खिलाफ पुरानी रंजिश को लेकर फायरिंग की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्राथमिकी में बताया कि आरोपी हथियारों से लैस होकर उसके घर आए और गाली गलौंच की। इसके बाद रामदयाल मास्टर ने बंदूक से फायर कर दिया। पुलिस ने जांच में मामला झूठा पाया। जिसमें पता चला कि ऋषिकेश मीना का पुस्तैनी मकान को लेकर विवाद चल रहा था। परिवादी ऋषिकेश ने विपक्षी लोगों पर दबाव बनाने के लिए साजिश रजी। जिसमें अपने दोस्त धनपाल मीना निवासी पांचौली थाना मण्डरायल से दो जिन्दा करतूस खरीदे। इसके बाद परिवादी की जिन लोगों से रंजिश चल रही थी उनके घर के बाहर खुद ने ही रात करीब एक बजे सूतली बम से धमाका किया और कारतूस को बाहर डाल दिया। इसके बाद शोर मचाया। इस दौरान ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। इस दौरान रामदयाल मास्टर पर फायरिंग करने का आरोप लगाया। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद मामला झूठा पाए जाने पर परिवादी ऋषिकेश निवासी अरौरा व इसके साथी धनपाल मीना निवासी पांचौली को गिरफ्तार कर लिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned