किसान चिंतित : खेतों में ‘लट’ की मार, गेहूं की फसल बीमार


Farmers worried: 'braided' hit in fields, wheat crop sick
बाजरा के बाद गेहूं में लट के प्रकोप से किसान चिंतित
लट की चपेट में आई सैकड़ों बीघा खेतों में खड़ी गेहूं की फसल

By: Anil dattatrey

Published: 14 Jan 2021, 09:38 AM IST


पटोंदा/ हिण्डौनसिटी.
बाजरे के बाद गेहूं की फसल में लट के प्रकोप ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है । पटादों व श्रीमहावीरजी क्षेत्र के दर्जनों गांवों में सैकड़ों बीघा खेतों में खड़ी गेहूं की फसल लट की चपेट में आ गई है। क्षेत्र में गेहूं की फसल में लट का प्रकोप देख किसान हैरान और परेशान हैं। किसानों की सूचना पर कृषि विभाग के दल खेतोंं में फसल हाल देखने पहुंचा।
किसानों ने बताया कि पटोंदा सहित क्षेत्र के इरनिया, जहानाबाद आदि ग्राम पंचायतों के खेतों में खड़ी गेहूं की फसल मे लट लगने से पौधे खराब होने लगे हैं। इरनिया के किसान रामेश्वर मीना, मूलाराम, नाहरसिंह, उदय सिंह, कमलराम, बल्लाराम, बलवीर सिंह आदि कृषकों ने बताया कि उन्होंने पहली बार गेहूं की फसल में लट देखने को मिली है। जो गेहूं के पौधे की जड़ों से होकर ऊपर बालियों तक पहुंच गई है।
गेहूं की फसल प्रभावित-
इससे हजारों हेक्टेयर में बोए में बोई गेहूं की फ़सल प्रभावित हो रही है। लट बाजरे की फसल में लगती थी। इस बारे क्षेत्र के किसानों ने कृषि अधिकारियों को अवगत कराया, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। अब बाजरा के बाद गेहूं की फसल में लट का प्रकोप बढ़ रहा हैं।

पहुंचा कृषि विभाग का दल-
गांव इरनिया के कृषकों द्वारा कृषि पर्यवेक्षक अवगत कराने पर कृषि विभाग का दल गांवों में पहुंचा और खेतों में पौधे को अवलोकन कर लट के प्रकोप की स्थिति देखी।
श्रीमहावीरजी के सहायक कृषि अधिकारी तेजभानसिंह, अर्चना सहित अन्य अधिकारियों किसानों से लट के प्रकोप की शुरुआत के बारे में जानकारी ली। साथ ही वर्तमान स्थित का जायजा लिया। निरीक्षण दल को क्षेत्र में कमोबेश हर खेत में खड़ी गेहूं की फसल में लट का प्रकोप मिला।

किसानों को बताए लट नियंत्रण के उपाय-
निरीक्षण दल में शामिल कृषि अधिकारियों ने मौके पर ही किसानों को फसल मेंं लट नियंत्रण के उपाय बताए। साथ ही कीटशक दवा के प्रयोग का परामर्श भी दिया।
सहायक कृषि अधिकारी तेजभान सिंह ने बताया कि क्षेत्र के इरनिया गांव में गेहूं की फसल में फोल आर्मी वर्म नामक एक विशेष प्रकार की लट का प्रकोप मिला है। इससे बचाव के लिए किसानों को कीटनाशक दवाई का स्प्रे करने की सलाह दी गई है।

इनका कहना है-
गेहूं की फसल में लट का प्रकोप देखने को मिला है। किसानों को फसल में प्रोपनोफोस का पचास प्रतिशत अथवा एमामेक्टिन बेंजोएट 5 प्रतिशत दवा का छिडक़ाव करने का परामर्श दिया गया है।
रूपसिंह गुर्जर,कीट विज्ञान विशेषज्ञ
कृषि विज्ञान केंद्र एकोराशी, हिण्डौनसिटी

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned