सरसों में खिले फूल, खेतों में सजने लगी पीली चुनरिया

Flowers blossomed in mustard, yellow chunaria started in the fields.Farmers expect bumper yield of mustard.
किसानों को सरसों की बंपर पैदावार की उम्मीद

श्रीमहावीरजी./हिण्डौनसिटी.
मौमम का मिजाज सर्द होने से खेतों में सरसों की फसल लहलहाने लगी है। रबी के सीजन में सबसे पहले बुवाई होने से सरसों पौधों में फल खिलने से खेतों में पीली चुनरिया सजने लगी है। शुरुआती दौर के बुवाई वाले खेतों में पीले फूलों की बहार ने किसानों के चेहरों में सरसों की अच्छी पैदावार की उम्मीद के मुस्कान बिखेर दी है।


अक्टूबर माह के पहले सप्ताह में तापमान में गिरावट आने सरसों की फसल की बुवाई पूरी कर ली गई। दीपावली बाद में तापमान के अनुकूल बने रहने से सरसों की फसल लहलहा उठी। समीप के गांव इरनिया के पास खेतों में सरसो में पीले पीले फूल खिलने लगे हैं। पीले फूलों से लकदक पौधों को देख किसानों को बम्पर पैदावार की आस जगी है। अभी सरसों की फसल रोग रहित होने से किसान खुश हैं।

श्रीमहावीरजी क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी की कम उपलब्धता होने की वजह से किसान सरसों की काश्त बहुतायत के तौर पर करते हैं। यही कारण है कि इस बार क्षेत्रीय किसान सरसों की बंपर पैदावार होने की उम्मीद लगाए बैठे। इधर कृषि पर्यवेक्षक तेजभान चौधरी का कहना है कि मौसम इसी प्रकार अनुकूल रहा तो इस बार सरसों का उत्पाद अन्य वर्षों की अपेक्षा अच्छा रहेगा।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned