माफ कर देना, हे महावीर, क्षमावाणी पर्व पर गलतियों के लिए परस्पर मांगी क्षमा

माफ कर देना, हे महावीर, क्षमावाणी पर्व पर गलतियों के लिए परस्पर मांगी क्षमा
माफ कर देना, हे महावीर, क्षमावाणी पर्व पर गलतियों के लिए परस्पर मांगी क्षमा,माफ कर देना, हे महावीर, क्षमावाणी पर्व पर गलतियों के लिए परस्पर मांगी क्षमा,माफ कर देना, हे महावीर, क्षमावाणी पर्व पर गलतियों के लिए परस्पर मांगी क्षमा

Anil dattatrey | Publish: Sep, 16 2019 12:23:59 PM (IST) Karauli, Karauli, Rajasthan, India

Forgive me, O Mahavir, I apologize mutually for the mistakes on the Apology Day.Digambar Jain society celebrated the apology festival

-दिगम्बर जैन समाज ने मनाया क्षमावाणी पर्व


हिण्डौनसिटी. श्रीमहावीरजी दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र श्रीमहावीरजी में जैन धर्मावलंबियों ने रविवार शाम क्षमावाणी पर्व मनाया। इस अवसर पर मुख्य मंदिर में जिनेन्द्र भगवान का पंचामृत से अभिषेक किया गया। वही परस्पर क्षमा याचना की गई।
दिगंबर जैन आदर्श महिला महाविद्यालय के व्यवस्थापक संजय छाबड़ा ने बताया कि शाम को कमलाबाई छात्रावास में सामूहिक क्षमावाणी के पर्व मना जैन समाज के लोगों ने वर्षभर में जाने-अनजाने में हुई गलतियों के लिए माफी मांगी। साथ ही एक दूसरे के प्रति वैरभाव, शत्रुता नष्ट करने का आग्रह किया। इसी प्रकार दिगम्बर जैन मंदिर में भी प्रतिमाओं का पंचामृत जल से अभिषेक किया गया। दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र प्रबन्धक नेमीकुमार पाटनी ने बताया कि क्षमावाणी पर भगवान जिनेंद्र की फूल माला की बोली जयपुर निवासी नरेंद्र कुमार कासलीवाल ने ली। साथ ही सामूहिक आरती की गई। इसके बाद समाज का सामूहिक क्षमावाणी पर्व मनाया गया।

नंगला मीणा गांव के मीणा समाज के लोगों ने भी की क्षमावाणी
दिगम्बर जैन समाज के क्षमावाणी पर्व रविवार को नंगला मीणा गांव के मीणा समाज के लोगों ने जुलूस के रूप में पहुंच भगवान महावीर की प्रतिमा के समक्ष क्षमा याचना की। गांव नंगला मीणा के मीणा समाज के लोग चैत्र माह में रथ यात्रा के दौरान भगवान महावीर को गालियों से रिझाते हैं। उसी परिपेक्ष में शाम को पहली बार नंगलामीणा के सैकड़़ों ग्रामीण सात किलोमीटर की पदयात्रा कर श्रीमहावीरजी पहुंचे और भगवान महावीर से क्षमा मांगी।


नगला मीना सरपंच कवर सिंह ने बताया कि क्षमावाणी पर गांव नंगला मीणा के ग्रामीण भगवान महावीर के मुख्य मंदिर पहुंचे। दो डीजे साउण्ड वाहनों पर भजन गीतों की स्वर लहरियों पर नाचते ग्रामीण सांझ ढले मंदिर पहुंचे। पहली बार नगला मीणा से पदयात्रा आने से मंदिर कटले के बाहर बाजार में मेले जैसी भीड़ हो गई। पचरंगी ध्वज की अगुवाई में ग्रामीण चांदनपुर के बाबा महावीर के जयकारे लगाते मुख्य मंदिर पहुंचे और क्षमावाणी कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान ग्रामीणों ने भगवान जिनेंद्र के दर्शन कर गलतियों और भूलों के लिए क्षमा मांगी।
गौरतलब हैं कि भगवान महावीर के लक्खी मेले में नंगला मीणा के ग्रामीण के मंदिर में आंगन में अश्लील गालियां दे भगवान महावीर को रिझाने की परम्परा है।
घरों से दूध लाकर किया अभिषेक-
क्षमावाणी पर सदियों पुरानी परम्परा के तहत सुबह नंगला मीणा गांव में ग्रामीणों ने घर-घर से दूध एकत्र कर मुख्य मंदिर भिजवाया। जहां श्रावकों ने दूध से भगवान महावीर का अभिषेक किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned