वो मीटर रीडर बन घर में घुसा, वृद्ध जोड़े से बोला— “आप अपने खाते में 18-18 हजार जमा कराओ, फिर इस योजना से 70-70 हजार मिलेंगे”

उसने वृद्ध से रुपए लेकर अपनी जेब में रखे और वृद्ध को कागजातों की फोटोकॉपी कराने भेज दिया। पढ़िए खबर में कैसे दिन-दहाड़े वृद्ध हुआ शिकार..

By: Vijay ram

Published: 20 Jul 2018, 10:32 PM IST


करौली.
मोदी की योजना का लाभ दिलाने का झांसा देकर एक ठग यहां शिकारगंज निवासी एक वृद्ध से करीब ढाई लाख रुपए की नकदी और ४ किलो चांदी के जेवरात ले भागा।

 

ठगने वाला युवक मीटर रीडर बनकर घर में घुसा था और उसने मोदी की योजना में पेंशन और नगदी दिलाने का लालच दिया। पीडि़त वृद्ध ने थाना कोतवाली में इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई है लेकिन पुलिस को देर रात तक ठग का कोई सुराग हाथ नहीं लगा।

यहां शिकारगंज निवासी रामफूल माली (६५) के घर एक व्यक्ति मीटर रीडर बनकर पहुंचा। इस व्यक्ति ने पहले मीटर चेक किया और बाद में घर में बैठे वृद्ध को लालच में फंसाया। उस व्यक्ति ने रामफूल से कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने एक योजना चलाई है, जिसमें लोगों को ७०-७० हजार रुपए नकद दिए जा रहे हैं। ठग अपने साथ एक कागज भी लेकर गया था, जिसमें रामफूल और उसकी पत्नी का नाम लिखा था। व्यक्ति ने शर्त बताई कि दोनों पति-पत्नी को ७०-७० हजार रुपए तब मिलेंगे, जब आप अपने खाते में १८-१८ हजार जमा कराएंगे।

 

इस पर वृद्ध बैंक में चलकर राशि जमा कराने को राजी हो गया और उसने खुद के १८ हजार एवं पत्नी भौती देवी के १८ हजार रुपए ठग के सामने ही बक्से में से निकाले। साथ ही कहे अनुसार आधारकार्ड, फोटो, आदि कागजात में साथ में ले लिए।

 

वृद्ध ३६ हजार रुपए की राशि लेकर ठग के साथ बाइक पर बैठ बैंक में चला गया। ठग उसे ट्रक यूनियन स्थित सेंट्रल बैंक में ले गया। यहां उसने वृद्ध से रुपए लेकर अपनी जेब में रखे और वृद्ध को कागजातों की फोटोकॉपी कराने भेज दिया।

यहां से ठग सीधा वृद्ध रामफूल के घर पहुंचा और जिस बक्से से वृद्ध ने पैसे निकाले थे, उसमें रखे करीब ढाई लाख रुपए नकद और करीब ४ किलो चांदी के जेवरात चोरी कर ले गया। फोटोकॉपी कराकर रामफूल बैंक में लौटा तो ठग को गायब पाया। उसने बैंक में योजना की और व्यक्ति की जानकारी की तो सभी ने अनभिज्ञता जताई। ठगे जाने से विचलित वृद्ध जब घर पहुंचा तो वहां से बक्से में से नकदी व जेवरात को भी गायब पाया। इसके बाद उसने पड़ोसियों की मदद से पुलिस थाना कोतवाली पहुंच ठगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

 

सूना था वृद्ध का घर
ठग जब वृद्ध के घर पहुंचा तो वृद्ध अकेला था। ठग पहले से वृद्ध और उसकी पत्नी के नाम जानता था। ठग एक कागज पर वृद्ध रामफूल और उसकी पत्नी भौती देवी का नाम लिखकर लााया था। ठग जब आया था तब रामफूल की पत्नी भौती देवी भैंस के लिए चारा लेने गई थी। इससे लगता ऐसा है कि वो कोई परिचित था।

पेंशन दिलाने का भी दिया झांसा
ठग ने वृद्ध से कहा कि मोदी ने वृद्धजनों को तीन-तीन हजार रुपए प्रतिमाह पेंशन देने की योजना चलाई है। इसके लिए पहले खुद के ही खाते में १८-१८ हजार रुपए जमा कराने पड़ते हैं। इस पर वृद्ध खुद और पत्नी के नाम के ३६ हजार रुपए बैंक में जमा कराने को राजी हुआ।

 

थाना इंचार्ज बोले:
मैं अभी जयपुर आया हूं। इस संबंध में सूचना मिली है। इस मामले में कार्रवाई की जाएगी।
- वीरेन्द्र शर्मा, थाना प्रभारी कोतवाली।

Vijay ram
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned