जवानी में की थी धोखाधड़ी, पुलिस ने बुढ़ापे में की गिरफ्तारी

Fraud was done in youth, police arrested in old age

25 साल से था धोखाधड़ी के मामले फरार, एसपी ने लगाया 2 हजार रुपए का इनाम

By: Anil dattatrey

Updated: 18 Sep 2020, 10:21 AM IST

हिण्डौनसिटी. धोखाधड़ी के मामले में 25 वर्ष फरार चल रहे आरोपी को सदरथाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की गिरफ्तारी पर जिला पुलिस अधीक्षक की ओर से दो हजार रुपए का इनाम घोषित था।सदर थाना प्रभारी शरीफ अली ने बताया कि गांव खिरखियानकापुरा निवासी आरोपी समय सिंह जाटव के खिलाफ वर्ष 1995 में जमीन संबंधी दस्तावेजों में धोखाधड़ी की प्राथमिकी कोतवाली थाना में दर्ज थी। तभी से आरोपी पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहा था। पुलिस अधीक्षक की ओर से आरोपी की गिरफ्तारी पर 2 हजार रुपए इनाम भी घोषित किया हुआ था। ढाई दशक से आरोपी के फरार चलने के मामले पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा और पुलिस उपाधीक्षक किशोरीलाल ने गंभीरता से लिया। साथ ही आरोपी का सुराग लगा गिरफ्तारी के निर्देश दिए। दोपहर सूचना पर सदर थााना पुलिस के हैड कांस्टेबल प्रेमसिंह व लीलाराम सहित टीम में उसके गांव पहुंंची। पुलिस को आया देख आरोपी ने भागने का प्रयास किया। जिसे घेराबंदी कर दबोच लिया।एसपी के निर्देश पर कार्रवाई- ढाई दशक फरार चल रहा आरोपी खेत में बाजरा काटने के दौरान पुलिस के शिकंजे में आ गया। पुलिस टीम में शामिल हैडकांस्टेबल प्रेमसिंह व लीलाराम ने बताया कि वे निजी वाहन से आरोपी की तलाश में खिडखिरियान का पुरा गांव के खेतों ने निकल रहे थे। इस दौरान बाजरा की फसल काट रहे ग्रामीणों एक वृद्ध पुलिस को देख भाग निकला। बाद में पीछा कर उसके नाम पता पूछ कर गिरफ्तार कर लिया।वर्ष 1995 में किया था अपराध- सदर थाना प्रभारी शरीफ अली ने बताया कि आरोपी धोखाधड़ी का अपराध करने के दौरान जवान था। वर्ष 1995 में आरोपी सुरेश जाटव की आयु 37 वर्ष थी। इसके बाद 25 वर्ष का लम्बा अरसा फरारी में गुजारने से आरोपी वृद्ध हो गया। उसे 62 वर्ष की आयु में गिरफ्तार किया गया है।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned