कोरोना की चेन तोडऩे में जुटे स्वास्थ्यकर्मी

Health workers engaged in breaking the corona chain संक्रमण के संदिग्धों की तलाश में घर-घर दे रहे दस्तक

By: Anil dattatrey

Updated: 04 Apr 2020, 03:58 PM IST

हिण्डौनसिटी.कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर घर पर दस्तक दी जा रही है। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में एक दौर पूरा होने के बाद फिर से घर-घर सर्वे का शुरू किया गया है। ताकि संक्रमण का एक भी संदिग्ध नहीं छूट सके। हिण्डौन नगर परिषद क्षेत्र में एक अपे्रल तक 2056 लोगों को संदिग्ध मानते हुए होम क्वारेंटाइन में रहने के निर्देश दिए गए हैं।उपखण्ड क्षेत्र में शहरी क्षेत्र में राजकीय चिकित्सालय की टीम वार्डों में तथा गांवों में खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देशन में पीएचसी के चिकित्सक व स्वस्थ्य उपकेन्द्र की एएनएम तथा आशा सहयोगिनी गांंवों में सर्वे कर दूसरे शहरों व रा’यों से आए लोगों की पहचान कर रहे हैं। राजकीय चिकित्सलय के फिजीशियन डॉ. आशीष शर्मा ने बताया कि नगर परिषद क्षेत्र में 13 हजार 832 घरों पर पहुंच स्वास्थ्य कर्मियों ने 70 हजार लोगों का स्वाथ्य सर्वे किया। चिकित्सालय की फील्ड हेल्थवर्कस टीम ने 623 लोगों की स्क्रीनिंग की। गत दिवस चिकित्सालय की टीम ने गीता टाकीज के पास मस्जिद में पहुंच जमात से लौटे 12 जमातियों की स्क्रीनिंग कर करौली भेजा। वहीं चिकित्सालय में 2 हजार 56 की स्क्रीनिंग हुई।इधर खण्ड मुख्य चिकित्साअधिकारी डॉ. श्याम सिंघल ने बताया कि गांवों सर्वे के दौर में 6 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रोंं व दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को 11 चिकित्सक, 60 राजकीय उपस्वास्थ्य केन्द्रों की 78 एनएएम व 208 आशा सहयोगिनी घर-घर दस्तक दे संदिग्धों को ढूंढ रही हैं।14 जनों की हुई जांच, रिपोर्ट निगेटिव-राजकीय चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में बीते दो सप्ताह में संदिग्ध मान 14 जने भर्ती किए गए। जयपुर से सभी रागियों की स्वाब नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। ऐसे में उन्हें 14 दिन तक होम क्वारेंटाइन में रहने के निर्देश दिए हैं।इधर शहर से दूर महवा रोड पर अपना घर में स्थापित किए सरकारी क्वारेंटाइन में चार जनों में से दो जनों को समय पूरा होने पर शुक्रवार को छुट्टी दे दी गई। अब दो जने क्वारेंटाइन में हैं।वापस मंगाई किट, अब करौली में जांच- कोरोना की जांच के लिए सेम्पल लेने का कार्य जिला मुख्यालय करौली में होगा। ऐसे में विभाग द्वारा राजकीय चिकित्सालय से शेष रही 11 सेम्पल किटों को करौली वापस मंगवा लिया गया है। स्थानीय स्तर पर सेम्पल संग्रहण बंद होने से संदिग्धों को करौली आइसोलेश वार्ड में भेजा जा रहा है।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned