राजस्थान के इस शहर में सबकुछ रहा बंद, बाजार खुले न पेट्रोलपम्प

राजस्थान के इस शहर में सबकुछ रहा बंद, बाजार खुले न पेट्रोलपम्प

Anil dattatrey | Publish: Sep, 06 2018 11:53:19 PM (IST) Karauli, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

एससी-एसटी एक्ट में संशोधित बिल का विरोध , हिण्डौनसिटी में सवर्ण व ओबीसी समाज ने निकाली रैली

हिण्डौनसिटी.एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केन्द्र सरकार द्वारा किए संशोधन के विरोध में सवर्ण व ओबीसी समाज के भारत बंद के तहत गुरुवार को हिण्डौन पूरी तरह बंद रहा। मेडिकल स्टोर से लेकर सब्जी मंडी और चाय-पान की थडियां स्वैच्छिक बंद रही। शाम को एकाध सिटी डिस्पेसरी के पास फल-सब्जी के एकाध ठेले नजर आए।
सुबह करीब ९ बजे सवर्ण और ओबीसी समाज के लोग चौपड़ सर्किल के पास नेहरू पार्क में एकत्र हो गए। जहां से लोग ललित किशोर चतुर्वेदी, राधामोहन पाठक के नेतृत्व में डेम्परोड़ बाजार की ओर रवाना हुई। केन्द्र सरकार व सभी राजनीतिक दलों के खिलाफ नारे लगाती भीड़ ने एक किलोमीटर की दूरी को करीब डेढ़ घंटे में तय किया। पूर्व में हुए बंद आंदोलनों से सबक ने पुलिस-प्रशासन ने रैली के रास्ते पुलिस के अलावा एसटीएफ के जवान तैनात किए। दंगारोधी वाहन व अश्रुगैस बन वाहन साथ रहे। डेम्परोड चौराहे पर पहुंचने पर रैली सभा में तब्दील हो गई।

जहां वक्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अध्यादेश लाने के विरोध में सत्तापक्ष और विपक्ष के सांसदों के खिलाफ ओक्रोश जताया। इस दौरान भाजपा नेता अशोक पाठक ने पार्टी नेताओं को आड़े हाथ लिया। साथ ही उन्होंने खुद व पार्षद पत्नी अनीता पाठक के पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने की घोषणा की। इस दौरान मुकेश पाठक, अमरसिंह रेंकवाल, मुनीम खां मुल्लाजी, अग्रवाल समाज अध्यक्ष बल्लभराम कम्बलवाल, युवा जाट चौरासी समाज के अध्यक्ष पार्षद बलबंत सिंह बेनीवाल, ब्राह्मण समाज अध्यक्ष देवीशरण शर्मा, वीरसिंह बेनीवाल, तेजसिंह धाकड़, ओमप्रकाश धाकड़, पंजाबी समाज के पुष्कर पंजाबी, विजय पांडेय, गोरेलाल विशंभर बंडीभोला सहित अनेल लोगों ने विचार व्यक्त किए। सभा के दौरान एसडीओ सुरेशचंद बुनकर, डीएसपी जयसिंह नाथावत सहित अनेक अधिकारी मय जाप्ता के मौजूद रहे।


बारिश में निकाली रैली-
विरोध प्रदर्शन रैली के चौपड़ सर्किल पर पर पहुंचते ही बारिश शुरूहो गई। एक में भीड़ कुछ देर के लिए छंट गई। लेकिन बारिश के बीच ही लोगों में बाइकों सवार युवकों की अगुआई में भीगते हुए डेम्परोड चौराहे तक विरोध रैली निकाली।
चंद बसें चली, रोडवेज को छह लाख की चपत-
भारत बंद के दौरान हिण्डौन आगार से 94 शिड्यूलों में से पांच शिड्यूलों पर ही बसों को संचालन हुआ। आगार मुख्य प्रबंधक बहादुरसिंह गुर्जर ने बताया कि दिनभर में जयपुर के लिए5, गंगापुर के लिए एक तथा कुछ बसें करौली के लिए चली। वहीं यात्रियों का भी टोटा रहा। ऐसे रोडवेज को 6लाख रुपए की राजस्व आय का नुकसान हुआ है।


रेल स्टेशन पर चौकसी बढ़ी, आय घटी-
भारत बंद के दौरान रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद रही। प्लेटफार्मों व सर्कूलेटिंग एरिया में आरपीएफ के जवानों ने गश्त की। पमरे जबलपुर जोन के मुुख्य संरक्षा आयुक्त निर्देश पर आए आरपीएफ केखुफिया विभाग ने स्टेशन और रैली की गतिविधियों पर निगरानी रखी। इधर मुख्य पार्सल एवं बुकिंग पर्यवेक्षक विनोद कुमार गोयल बताया कि यात्रियों की कम आवक रेलवे को पहली पारी में करीब 40 हजार रुपए की आय कम हुई है।


पेट्रोल पम्प व मेडिकल स्टोर भी बंद-
बंद के दौरान शहर में आवश्यक सुविधाओं में शामिल पेट्रोल पम्प व मेडिकल स्टोर बंद रहे। बाजार सहित अस्पताल क्षेत्र में मेडिकल स्टोर बंद होने रोगियों को नि:शुल्क दवा योजना में अनुपलब्ध दवाईयों के लिए भटकना पड़ा। हालांकि चिकित्सालय परिसर में सहकारी उपभोक्ता भण्डार की मेडिकल स्टोर खुली रही। इधर एक पेट्रोलपम्प के अलावा शहरी क्ष्ेात्रके सभी पेट्रोल पम्प बंद रहे। इसी प्रकार गोपाल सब्जी मंडी व खुदरा सब्जी मंडी पूरी तरह बंद रही।


पूर्व मंत्री और विधायक के घर सुरक्षा-
विरोध रैली के दौरान पुलिस उपधीक्षक के नेत़ृत्व में पुलिस व एसटीएफ के जवान तैनात रहे। पूर्वमंत्री भरोसीलाल जाटव व विधायक राजकुमारी जाटव के निवास पर सुरक्षा के लिए जाप्ता तैनात रहा। इसके अलावा डीएसपी कार्यालय, पत्थर वालों के धर्मशाला, पूर्व मंत्री आवास के बाहर एसटीएफ जवान ट्रक में बैठ अलर्ट रहे। वहीं शहर में सुरक्षा बल के जवानों द्वारा ट्रकों से गश्त भी की गई। शहर में बाजार सहित प्रमुख स्थानों पुलिस बल तैनात रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned