17 सूत्री मांगों पर कांग्रेस MLA रमेश मीणा का धरना 20वें दिन भी जारी रहा, अभी तक की सारी वार्ता विफल

17 सूत्री मांगों पर कांग्रेस MLA रमेश मीणा का धरना 20वें दिन भी जारी रहा, अभी तक की सारी वार्ता विफल

Vijay ram | Publish: Mar, 14 2018 11:34:13 PM (IST) Karauli, Rajasthan, India

विधायक ने कहा कि समाधान नहीं होने तक वे धरने से हटने वाले नहीं हैं। केवल आश्वासन से काम नहीं चलेगा...

करौली.
यहां १७ सूत्री मांगों को लेकर जिला कांग्रेस की ओर से विधायक रमेश मीणा के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर दिया जा रहा धरना २० वें दिन भी जारी रहा। इस बीच संभागीय आयुक्त से विधायक की सर्किट हाउस में वार्ता हुई लेकिन इस वार्ता में बात बन न सकी। हालांकि संभागीय आयुक्त ने वार्ता को सकारात्मक बताया है।

 

यूं तो संभागीय आयुक्त और विधायक के बीच वार्ता होने के संकेत सोमवार को मिल गए थे और यह वार्ता मंगलवार को होनी थी लेकिन किन्हीं कारणों से आयुक्त करौली आए नहीं थे। बुधवार को वे करौली आए और सर्किट हाउस में एसपी अनिल कयाल, एडीएम राजनारायण शर्मा की मौजूदगी में विधायक से मांग पत्र पर बिन्दुवार वार्ता हुई। विधायक रमेश मीणा ने नैतिक बंसल के मामले का तथ्यों के आधार पर खुलासा करने, दुष्कर्म के आरोपितों को पकडऩे, जिला प्रशासन-पुलिस की मनमानी पर अंकुश लगाने, सिलीकोसिस पीडि़तों को सहायता राशि का भुगतान करने तथा जिले को अकाल ग्रस्त घोषित करने की मांगों का समाधान करने को कहा।

इस पर आयुक्त ने कहा कि जिन समस्याओं का समाधान स्थानीय स्तर से हो सकता है, उनका जल्द समाधान कर दिया जाएगा। शेष को राज्य सरकार के पास भेज दिया जाएगा। विधायक ने कहा कि समाधान नहीं होने तक वे धरने से हटने वाले नहीं हैं। केवल आश्वासन से काम नहीं चलेगा। सूत्रों ने बताया कि मीना आयुक्त के जवाब से असंतुष्ट होकर बैठक कक्ष से बाहर आ गए। विधायक रमेश मीणा ने बताया कि वार्ता के दौरान संतोषजनक जवाब नहीं मिला। इस कारण वार्ता विफल रही है।

 

वार्ता के दौरान मीना ने जिले में विकास कार्य ठप तथा सरकार की योजनाओं के जिले में ठप होने का आरोप लगाया। उन्होंने बतााय कि जिला प्रशासन व ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज विभाग की उदासीनता से मनरेगा सहित विकास कार्यों की अन्य योजनाएं बंद पड़ी है। इस कारण ग्रामीण रोजगार के लिए भटकने को मजबूर हैं। मीना ने बीसीआर के नाम पर लूट करने का आरोप विद्युत निगम के अभियंताओं पर जड़ा,कहा कि जातिवाद को बढ़ावा देकर बीसीआर भरी गई है, जिससे लोग आहत है। इधर धरना 20वें दिन भी जारी रहा।

 

&विधायक मीना के साथ वार्ता सकारात्मक हुई, उनके प्रमुख मुद्दों को राज्य सरकार के पास भेज दिया जाएगा।
सुबीर कुमार, संभागीय आयुक्त भरतपुर

 

इधर, कार्यशाला में भाग लेंगे आयुर्वेद चिकित्साधिकारी
करौली के आयुर्वेद विभाग राजस्थान सरकार एवं नेशनल आयुर्वेद स्टूडेंट्स यूथ एसोसिएशन (एनएएसवाईए) के संयुक्त तत्वावधान में मधुमेह रोग पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला १७ से १८ मार्च को तेरोपंथ भवन नाईयों की तलाई उदयपुर में होगी। कार्यशाला में करौली जिले के आयुर्वेद चिकित्साधिकारी डॉ. विनोद शांडिल्य एवं डॉ. सुरेन्द्र सिंह गुर्जर भाग लेंगे। डॉ. शांडिल्य ने बताया कि मधुमेह मंथन कार्यशाला में श्रीलंका, नेपाल, भूटान, ईरान एवं तंजानिया आदि दस देशों से शोधार्थी अपना शोध पत्र प्रस्तुत करेंगे। इसमें १० से अधिक राज्यों के ३०० से अधिक आयुर्वेद विशेषज्ञों का भाग लेना प्रस्तावित है। कार्यशाला में नाड़ी विशेषज्ञों की ओर से ओपीडी स्तर पर क्लीनिकल डाटा मैनेजमेंट व उनका प्रकाशन, प्रमेह एप, मधुमेह और हमारी किचन, प्रमेह में उपयोगी यौगिक क्रियाएं, प्रमेह में पंचकर्म चिकित्सा रसौषधि चिकित्सा द्वारा जन सामान्य को मधुमेह के बारे में जागरुकता लाने के लिए वैज्ञानिक सत्र रखे जाएंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned