ऐसे तो कैसे जागरूक होंगे लोग...सरकारी नुमाइंदे ही उड़ा रहे ‘नो मास्क-नो एंट्री’ अभियान की खिल्ली

How will people become aware like this ... Government representatives are ridiculing the 'No Mask-No Entry' campaign

उपखंड मुख्यालय पर सरकारी विभागों के कार्यालयों में अभियान की सुनिश्चित नहीं हो पा रही पालना बिना मास्क लगाए ही कार्य कर रहे हैं अधिकारी -कर्मचारी

By: Anil dattatrey

Published: 23 Oct 2020, 10:57 AM IST


हिण्डौनसिटी. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे ‘नो मास्क नो एंट्री’ अभियान को जिम्मेदार ही फेल करने में लगे हैं। उपखंड मुख्यालय पर सरकारी विभागों के कार्यालयों में अभियान की पालना सुनिश्चित नहीं हो पा रही है। अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक बिना मास्क लगाए ही कार्य करते नजर आ रहे हैं।
राजस्थान पत्रिका द्वारा गुरुवार को की गई पड़ताल में यह पोल खोलती सच्चाई सामने आई।

पत्रिका टीम दोपहर में तहसील परिसर में बने कोरोना कंट्रोल रूम पहुंची। जहां स्वयं तहसीलदार रामकरण मीणा व अन्य सरकारी कर्मचारी बिना मास्क के ही लोगों की फरियाद सुनते नजर आए। इसके बाद पत्रिका टीम ने उपखंड कार्यालय, उप पंजीयक कार्यालय, उप कोषाधिकारी कार्यालय, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग कार्यालय, राजकीय चिकित्सालय, नगरपरिषद कार्यालय समेत कई सरकारी महकमों के दफ्तरों में खोजबीन की। जहां खुलेआम सरकारी नुमाइंदे ही नो मास्क-नो एंट्री अभियान की खिल्ली उड़ाते हुए पत्रिका के कैमरे में कैद हुए।

पत्रिका रेड़ के बाद सरकारी विभागों के दफ्तरों में हडकंप मच गया। अधिकारी से लेकर कर्मचारी स्वयं तो मास्क पहने नजर आए ही साथ ही आने-जाने वाले फरियादियों से भी समझाईश करते देखे गए।

मास्क पहनने की सलाह देने वाले खुद लापरवाह-
एक ओर पूरी सरकारी मशीनरी नो मास्क-नो एंट्री अभियान को सफल बनाने में जुटी है। घर-घर पहुंच लोगों को कोविड़-19 महामारी से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है, लेकिन कई अधिकारी-कर्मचारी ही मास्क का उपयोग नहीं कर रहें हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि जब आमजन को मास्क पहनने का मशविरा देने वाले ही नियम की पालना नहीं करेंगे तो फिर पब्लिक में क्या संदेश जाएगा।

घर-घर वितरित किए जा रहे हैं मास्क-
आपको बता दें कि हिण्डौन शहर में भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राज्य सरकार की ओर से लोगों को कोरोना से जागरूक करने के लिए नो मास्क नो एंट्री अभियान शुरू किया है। इसके तहत नगरपरिषद की ओर से लोगों को मुफ्त मास्क वितरित किए जा रहे है। साथ ही मास्क पहनने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। लेकिन मास्क नहीं पहन अभियान की अनदेखी कर अधिकारी व कर्मचारी ही इसकी सफलता को लेकर कई तरह के सवाल खड़े कर रहे हैं।

Anil dattatrey Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned