scriptIrrigation project in trouble, public representatives are indifference | सिंचाई परियोजना खटाई में, जनप्रतिनिधि बरत रहे उदासीनता | Patrika News

सिंचाई परियोजना खटाई में, जनप्रतिनिधि बरत रहे उदासीनता

गदाखार पेयजल एवं सिंचाई परियोजना

 

सिंचाई परियोजना खटाई में, जनप्रतिनिधि बरत रहे उदासीनता

 

करौली जिले में मासलपुर क्षेत्र की महत्वाकांक्षी गदाखार पेयजल एवं सिंचाई परियोजना स्वीकृत नहीं होने के कारण करीब 30 गांवों के किसान पिछले तीन दशकों से अकाल का दंश झेल रहे हैं। परियोजना का लाभ मिलने की आस में कई किसानों की आंखें पथरा गई हैं। लेकिन जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासन की उपेक्षा के कारण क्षेत्र की जीवनदायिनी एकमात्र परियोजना आज भी खटाई में है।
दशकों से यह चुनावी भी मुद्दा रहा है।

करौली

Published: June 09, 2022 11:52:44 am

गदाखार पेयजल एवं सिंचाई परियोजना

सिंचाई परियोजना खटाई में, जनप्रतिनिधि बरत रहे उदासीनता

करौली जिले में मासलपुर क्षेत्र की महत्वाकांक्षी गदाखार पेयजल एवं सिंचाई परियोजना स्वीकृत नहीं होने के कारण करीब 30 गांवों के किसान पिछले तीन दशकों से अकाल का दंश झेल रहे हैं। परियोजना का लाभ मिलने की आस में कई किसानों की आंखें पथरा गई हैं। लेकिन जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासन की उपेक्षा के कारण क्षेत्र की जीवनदायिनी एकमात्र परियोजना आज भी खटाई में है।
दशकों से यह चुनावी भी मुद्दा रहा है। हर चुनाव के दौरान सभी राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों द्वारा मंच से इस परियोजना को लेकर आश्वासन दिए जाते रहे हैं। वर्ष 2018 के चुनाव में गदाखार एनिकट मासलपुर वासियों का एक अहम मुद्दा था। विधानसभा चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों ने भरोसा भी दिया, कि राज्य सरकार के गठन होते हुए गदाखार एनिकट का निर्माण कराएंगे। लेकिन अब तक किसानों का यह सपना पूरा नहीं हो सका है। क्षेत्र की जनता के लिए बहुप्रतीक्षित मांग आज भी अधूरी है।
सिंचाई परियोजना खटाई में, जनप्रतिनिधि बरत रहे उदासीनता
सिंचाई परियोजना खटाई में, जनप्रतिनिधि बरत रहे उदासीनता
दो विभागों के बीच उलझी योजना

असल में ये परियोजना दो विभागों के बीच उलझने से अटकी हुई है। गदाखार नाला वन क्षेत्र में पड़ता है। वन विभाग द्वारा परियोजना के लिए एनओसी जारी नहीं की जा रही है।
आरटीआई कार्यकर्ता मनीराम मीना द्वारा सम्बंधित विभागों से आरटीआई के जरिए प्राप्त कागज़ातों से पता चला कि जल संसाधन विभाग के अधिकारियों द्वारा वर्ष 2015 से ही वन विभाग की एनओसी का अभाव बताकर इस परियोजना पर कार्रवाई नहीं की है। कार्यालय उप वन सरंक्षक करौली द्वारा 19 मार्च 2020 और 12 फरवरी, 2021 को कार्यालय अधिशासी अभियंता जल संसाधन खण्ड करौली को पत्र भेजकर एनओसी के लिए प्रस्ताव परिवेश पोर्टल पर ऑनलाइन करने के लिए कहा गया। लेकिन कार्यालय अधिशासी अभियंता ,जल संसाधन, खण्ड करौली ने अब तक उप वन सरंक्षक करौली को इस परियोजना की एनओसी लेने के लिए पोर्टल पर अभी तक कोई ऑनलाइन प्रस्ताव नहीं भेजे।
परियोजना के निर्माण के लिए वन विभाग से एनओसी स्वीकृति को लेकर जनप्रतिनिधि भी कम जिम्मेदार नहीं हैं। क्षेत्रीय विधायक द्वारा भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है। लोगों का मानना है ,कि गदाखार एनीकट में भले ही तकनीकी पेंचीदगी है। लेकिन क्षेत्रीय विधायक द्वारा मासलपुर क्षेत्र की महत्वपूर्ण जल परियोजना की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री व राज्य सरकार पर दबाव बनाया जाऐ तीन दशकों का सपना साकार हो सकता है।
जलस्तर गिरने से सूख रहे नलकूप व कुएं


प्रतिवर्ष पेयजल योजनाओं के नाम पर ट्यूबबेल, हैंडपंप, जनता जल योजना और जल जीवन मिशन के तहत करोडों रुपया खर्च हो रहा है। लेकिन मासलपुर क्षेत्र के आस पास के गांवों में जल स्तर नीचे चले जाने के कारण 95 फीसदी ट्यूबबेल सूख जाते हैं।
इसके कारण गर्मी में पानी की किल्लत रहती है। क्षेत्र के लोगों को पेयजल समस्या से जूझना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि परियोजना को लेकर कई बार ऑनलाइन पोर्टल पर भी मांग की जा चुकी है, लेकिन कार्रवाई
नहीं होती।

व्यर्थ बह जाता है पानी


बरसात के दिनों में गदाखार नाले का अधिकांश पानी व्यर्थ बह जाता है। परियोजना के निर्माण से मासलपुर क्षेत्र की जल समस्या का स्थाई समाधान हो सकता है। क्षेत्र के करीब 50 तालाबों में भरपूर पानी हो सकता है। जिससे क्षेत्र के भूजल स्तर में काफी बढ़ोतरी हो सकती है । लेकिन लोगों की वर्षों से चली आ रही इस मांग को सरकार ने गंभीरता से नहीं लिया। जिससे क्षेत्र के लोगों को पेयजल समस्या से जूझना पड़ रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.