पानीपत के फिल्मांकन में महाराजा सूरजमल के व्यक्तित्व से छेड़छाड़ को लेकर जाट समाज में आक्रोश

Jat community outrage over tampering of Maharaja Surajmal's personality in filming of Panipat. Memorandum submitted to the SDO to the Chief Minister by performing the Jat Samaj in the Tehsil
-जाट समाज का तहसील में प्रदर्शन कर एसडीओ को मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

हिण्डौनसिटी. फिल्म पानीपत में भरतपुर रियासत के महाराजा सूरजमल के व्यक्तित्व से छेड़छाड़ करने के विरोध में सोमवार को जाट समाज के लोगों ने तहसील परिसर में प्रदर्शन किया। इसके बाद सिनेमा घरों में फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा कर अनुज्ञापत्र निरस्त करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीओ सुरेश यादव को ज्ञापन सौंपा।


जाट समाज चौरासी के अध्यक्ष कप्तानसिंह सोलंकी ने बताया कि फिल्म निर्माता आशुतोष गोवारिकर द्वारा बनाई गई पानीपत फिल्म में एतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर महाराजा सूरजमल के चरित्र को लालची शासक बताया है। जिससे जाट समाज में आक्रोश व्याप्त है।

जाट समाज के लोगों ने बताया कि सरकार ने अगर फिल्म पर प्रतिबंध नहीं लगाया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस दौरान पार्षद लेखेन्द्र चौधरी, युवा जाट समाज अध्यक्ष करतार सिंह चौधरी, पार्षद बलवंत बेनीवाल, पार्षद चरण सिंह मौजूद थे।

इसी प्रकार श्रीमहावीरजी क्षेत्र के सनेट गांव में जाट नवयुवक मंडल ने ऐतिहासिक पृष्ठभूमि की पानीपत फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया।प्रदर्शन कर रहे युवाओंं का कहना था कि पानीपत फिल्म में महाराजा सूरजमल का किरदार गलत तरीके से फिल्मांकन किया गया है। जाट समाज के लोगों ने राज्य सरकार से प्रदेश में पानीपत के प्रदर्शन पर रोक लगाने की मांंग की है।

Anil dattatrey
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned