पगार मिली ना वाहन, तीन दिन पैदल चल पहुंचे, कोराना में मजदूरों की आफत

कुडगांव. पुलिस प्रशासन लॉकडाउन में कानूनी जिम्मेदारी के साथ सामाजिक व्यवस्थाओं, जरूरतमंदों की मदद में सहयोग को आगे आ रहा है। गुजरात क्षेत्र से सैकड़ों लोग पैदल ही अपने गांव धौलपुर, मुरैना, मध्य प्रदेश जा रहे थे।

कुडगांव. पुलिस प्रशासन लॉकडाउन में कानूनी जिम्मेदारी के साथ सामाजिक व्यवस्थाओं, जरूरतमंदों की मदद में सहयोग को आगे आ रहा है। गुजरात क्षेत्र से सैकड़ों लोग पैदल ही अपने गांव धौलपुर, मुरैना, मध्य प्रदेश जा रहे थे। जब वह हाइवे पर पहुंचे तो थाना अधिकारी ने उनसे पूछताछ की। जो लोग जुखाम-बुखार आदि से उनको सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाकर चिकित्सकों से जांच कराई। थानाधिकारी ने करीब ढाई सौ पैकेट खाने के लोगों को वितरित कराए। पेयजल आदि की व्यवस्था भी की। थाना अधिकारी ओमेंद्र सिंह ने बताया कि गुजरात और मध्यप्रदेश में उद्योग-धंधे ठप होने जाने से मजदूर अपने घरों को लौट रहे हैं। जिनकी मदद की गई।
थानाधिकारी ने करीब ढाई सौ पैकेट खाने के लोगों को वितरित कराए। पेयजल आदि की व्यवस्था भी की। थाना अधिकारी ओमेंद्र सिंह ने बताया कि गुजरात और मध्यप्रदेश में उद्योग-धंधे ठप होने जाने से मजदूर अपने घरों को लौट रहे हैं। जिनकी मदद की गई।

Jitendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned