15 साल बाद नहर के अंतिम छोर पर पहुंचा पानी, किसानों के चेहरे खिले

सपोटरा. कालीसिल बांध से सिंचाई के लिए नहरों में छोड़ा गया पानी करीब डेढ़ दशक (१५ साल) बाद अंतिम छोर पर पहुुंचा। नहर के ंअंतिम छोर तक पानी पहुंचने से किसान खुश है। 11 दिसम्बर को नहर खोली गई थी।

By: Jitendra

Published: 30 Dec 2020, 07:47 PM IST

सपोटरा. कालीसिल बांध से सिंचाई के लिए नहरों में छोड़ा गया पानी करीब डेढ़ दशक (१५ साल) बाद अंतिम छोर पर पहुुंचा। नहर के ंअंतिम छोर तक पानी पहुंचने से किसान खुश है। 11 दिसम्बर को नहर खोली गई थी। नहर की उचित देखरेख होने से पानी अंतिम छोर तक पहुंचा है। कुशाल सिंह माइनर में अन्तिम छोर के गांव एकट एवं नारौली माइनर में औडच गांव तक के किसानों को पानी पहुंचाया गया है। कनिष्ठ अभियंता घनश्याम डागुर ने बताया कि
जगह-जगह के अवरोधकों को हटाया
अभियंता ने बताया कि नहर में जगह-जगह हो रहे अवरोधकों को हटवाकर अंतिम छोर तक पानी पहुंचाया गया। तेज बहाव से क्षतिग्रस्त हुई नहर को भी ठीक करा दिया है। बांध के जीर्णोंद्धार, नहरों के पक्का व नवीनीकरण के बाद करीब 15 साल बाद नहर क्षेत्र के अन्तिम छोर पर बसे ग्रामीण कालीबांध के पानी से लाभान्वित हुए हैं। कनिष्ठ अभियंता ने बताया कि बांध की नहर खोलते समय बांध मे कुल 15 फीट पानी था। बांध की भराव क्षमता २७ फीट है।

Jitendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned