अब सभापति ने किया आयुक्त पर पलटवार, खुलकर सामने आया विवाद

करौली. नगर परिषद सभापति और परिषद आयुक्त के बीच चल रही विवाद की स्थिति खुलकर सामने आ गई है।

By: Dinesh sharma

Published: 23 Apr 2020, 08:52 PM IST

करौली. नगर परिषद सभापति और परिषद आयुक्त के बीच चल रही विवाद की स्थिति खुलकर सामने आ गई है। नगर परिषद आयुक्त द्वारा बुधवार को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेशचन्द मीणा की समीक्षा बैठक में सभापति के पिता पर नगर परिषद के कार्य में दखलअंदाजी व अपनी जाति के लोगों को राशन वितरण के आरोप लगाने के बाद अब सभापति अजय प्रजापत ने आयुक्त पर पलटवार किया है। इसके चलते आयुक्त और सभापति के बीच विवाद की स्थिति बढ़ी है।

एक दिन पहले कलक्ट्रेट में मंत्री रमेशचन्द मीना द्वारा अधिकारियों की बैठक ली गई। बैठक के दौरान कोरोना संकट की घड़ी में प्रशासन द्वारा जरुरतमंदों को रसद सामग्री की चर्चा के दौरान परिषद आयुक्त शम्भूलाल मीना ने सभापति के पिता द्वारा कामकाज में दखलंदाजी करने का आरोप लगाया था।

इसे लेकर गुरुवार को सभापति अजय प्रजापति ने प्रेसवार्ता कर आयुक्त के आरोपों को झूंठा बताया। उन्होंने कहा कि उनके व उनके पिता रामेश्वर प्रजापत द्वारा अपने समाज के लोगों को राशन किट बंटवाने के आरोप मिथ्या है। मेरे वार्ड क्षेत्र से कुल 32 परिवारों का नाम दिया गया, जिसमें उनकी जाति के महज चार परिवार ही शामिल हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि परिषद क्षेत्र के 40 वार्डों में से 14 में तो 40 परिवारों को ही शामिल किया है, जबकि 26 वार्डोँ में 1205 परिवारों को शामिल कर मनमानी करते हुए पात्र परिवारों को सूची से वंचित कर दिया गया है। कई पार्षदों द्वारा दिए गए नाम भी सूची से गायब कर दिए गए हैं।

इस दौरान सभापति ने कहा कि आयुक्त उनके द्वारा दिए जाने वाले किसी भी आदेश की पालना नहीं करते हैं। ना ही बोर्ड बैठक में लिए गए प्रस्तावों पर आयुक्त ने कोई कार्रवाई की है। सभापति बोले कि शहरी जल योजना के तहत अभियंताओं को परिषद कार्यालय में ही कक्ष उपलब्ध कराने एवं स्टोर भी यहीं बनाने का निर्णय किया था ताकि अनियमितताओं की शिकायतें रूक सके और जनता की समस्याओं का समय पर समाधान हो सके, लेकिन इस निर्णय को भी आयुक्त ने दरकिनार कर दिया है।

इसके अलावा एपीओ किए गए कार्मिकों को अभी तक रिलीव नहीं किया है और ना ही एक अन्य कार्मिक के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई है। सभापति का आरोप है कि जब से उन्होंने सभापति का पदभार ग्रहण किया है वे उनके आदेशों की लगातार अवहेलना कर रहे हैं।

इस दौरान पार्षद मंजूर पठान, पंकज लवानिया, बाबूलाल माली, अन्नू, पूर्व पार्षद शिवकुमार शर्मा एवं सभापति के पिता रामेश्वर प्रजापत ठेकेदार भी मौजूद थे।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned