नर्सिंगकर्मी सरकार से हैं नाराज, काली पट्टी बांध जता रहे विरोध

करौली. राज्य सरकार द्वारा नर्सेज का पदनाम नहीं बदलने के विरोध में प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर यहां सामान्य चिकित्सालय में दूसरे दिन भी नर्सजकर्मियों का विरोध-प्रदर्शन जारी रहा।

By: Dinesh sharma

Published: 16 May 2020, 10:12 PM IST

करौली. राज्य सरकार द्वारा नर्सेज का पदनाम नहीं बदलने के विरोध में प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर यहां सामान्य चिकित्सालय में दूसरे दिन भी नर्सजकर्मियों का विरोध-प्रदर्शन जारी रहा। नर्सिंगकर्मियों ने विरोध में काली पट्टी बांधकर ही वार्डों में कार्य किया।

राजस्थान नर्सेज एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष विक्रम मीणा ने बताया कि 12 मई अंतर्राष्ट्रीय नर्सेज दिवस पर सभी नर्सेज उम्मीद कर रहे थे कि राज्य सरकार नर्सेज को पद नाम बदलकर उनकी मांग को पूरा करेगी, लेकिन उनकी उम्मीद अधूरी रहने से उन्हें निराशा मिली। जिलाध्यक्ष ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में नर्सेजकर्मी बेहतर तरीके से अपने फर्ज को निभा रहे हैं, लेकिन सरकार ने उनकी मांग को पूरा नहीं कर निराश किया है।

जबकि राज्य सरकार के कई मंत्री और विधायकों ने भी नर्सेज का पदनाम बदलने के लिए मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री को अभिसंशा की थी। जिलाध्यक्ष के अनुसार उनके द्वारा नर्सेज को प्रोत्साहन के रूप में पद नाम बदलकर नर्स ग्रेड प्रथम को सीनियर नर्सिंग अधिकारी एवं नर्स ग्रेड द्वितीय को नर्सिंग अधिकारी करने की मांग की जा रही है। कई राज्यों में नर्सेज का नाम परिवर्तन पहले ही किया जा चुका है।

नर्सेज दिवस पर भी 2 राज्यों ने नर्सेज को यह तोहफा पद नाम बदल कर दिया है। जिलाध्यक्ष ने बताया कि अब वे एक सप्ताह तक लगातार गांधीवादी तरीके से काली पट्टी बांधकर विरोध जताते हुए कार्य करेंगे।

Dinesh sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned